google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

प्रियंका की गिरफ्तारी से गर्माई यूपी समेत देश की सियासत, एक्शन में राहुल गांधी करेंगे लखीमपुर कूच



लखीमपुर खीरी जाते वक्त सीतापुर में रोकीं गई प्रियंका गांधी को गिरफ्तार कर लिया गया है। प्रियंका रविवार की रात दिल्ली से लखनऊ आईं और रात बारह बजे के आसपास लखीमपुर के लिए रवाना हो गईं। सीतापुर में उन्हें रोका गया और हिरासत में रखा गया। इसके बाद मंगलवार को शांति भंग की आशंका में प्रियंका समेत 11 लोगों पर एफआईआर दर्ज की गई और प्रियंका को गिरफ्तार कर लिया गया।




सीतापुर में पीएसी सेकेंड बटालियन के गेस्ट हाउस में हिरासत में ली गईं कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा व 11 के विरुद्ध मंगलवार को हरगांव पुलिस ने धारा 107/116 व 151 में कार्रवाई कर दी है। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा समेत 11 लोगों के विरुद्ध हरगांव पुलिस ने धारा 107/116 व 151 में पाबंद करने के लिए रिपोर्ट एसडीएम को भेजी है। एसडीएम की संस्तुति के बाद प्रियंका व उनके समर्थकों की पाबंदी की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। इसके बाद उन्हें निजी मुचलके पर ही रिहा किया जाएगा।



प्रियंका के अलावा संदीप, राजकुमार, दीपक सिंह mlc, अजय लल्लू,नरेंद्र शेखावत ,योगेंद्र,हरिकांत, धीरज गुज्जर, अमित, दीपेंद्र हुड्डा का नाम चालान लिस्ट में शामिल है।


इस बीच प्रियंका की गिरफ्तारी की खबर आते ही यूपी समेत पूरे देश की सियासत गर्मा गई। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जो यूपी विधानसभा चुनाव 2022 के लिए कांग्रेस के पर्यवेक्षक हैं उन्हें एयरपोर्ट से ही वापस रायपुर रवाना कर दिया गया। भूपेश बघेल जिम्मेदारी मिलने के बाद लखनऊ आए थे और प्रियंका से मिलने सीतापुर जाने का भी कार्यक्रम तय हो गया था। लेकिन प्रशासन ने उन्हें एयरपोर्ट से बाहर आने ही नहीं दिया। इस पर बघेल वहीं धरने पर बैठ गए हांलाकि बाद में उन्हें वापस जहाज में बैठा दिया गया।


प्रियंका गांधी अपनी जिद पर अड़ी रहीं और लखीमपुर जाने के लिए लगातार कहती रहीं। प्रिंयका गांधी की रिहाई के लिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जगह जगह प्रदर्शन भी किया। सीतापुर में सैकड़ों कांग्रेस कार्यकर्ता सेकेंड बटालियन पीएसी गेट पर जमा रहे।



इसके बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने शहर को बंद करने और सड़क जाम की चेतावनी दी। आधे घंटे में प्रियंका की रिहाई की मांग रखी जिसके बाद शांति भंग की आशंका में प्रियंका और अन्य 11 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया।


इस बीच प्रियंका गांधी ने सुबह की चाय पी और कार्यकर्ताओं को भी चाय पिलाने के लिए निर्देश दिए।

प्रियंका गांधी जिस गेस्ट हाउस में रुकी हुई हैं, उसकी निगरानी ड्रोन कैमरे से की जा रही है।


इस बीच लखनऊ में भूपेश बघेल की प्रस्तावित प्रेस कांफ्रेंस में कांग्रेस नेता पीएल पुनिया और प्रमोद तिवारी पहुंचे। बघेल ने एयरपोर्ट से ही फोन के जरिए अपना संदेश दिया।



वहीं सीतापुर में शाम होते होते कांग्रेस कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रियंका के समर्थन और किसानों की श्रद्धांजलि में मोमबत्तियां जलाई और मशाल जुलूस निकाला।



शाम करीब 8 बजे जानकारी हुई कि प्रियंका वर्चुअल माध्यम से कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ जुड़ेगीं। इसके बाद उनका फेसबुक अकाउंट ब्लाक दिखाई दिया। हांलाकि प्रियंका ने डिजिटल माध्यम से कार्यकर्ताओं से संवाद स्थापित किया।


इसके बाद राहुल गांधी ने लखनऊ आकर सीतापुर और लखीमपुर जाने की बात कही। राहुल बुधवार को 12 बजे तक लखनऊ आ सकते हैं। राहुल के साथ पांच लोगों के प्रतिनिधिमंडल ने योगी सरकार से लखीमपुर जाकर किसान परिवारों से मुलाकात करने की अनुमति मांगी है। जिस पर सरकार ने कहा है कि जिले में धारा 144 लागू है और उन्हें इजाजत नहीं दी जा सकती।


प्रियंका की गिरफ्तारी की खबर फैलते ही अलग अलग पार्टियों के कई नेताओं ने भी बीजेपी को घेरा है। शिवसेना नेता संजय राउत और एनसीपी मुखिया शरद पवार ने इसे अनुचित बताया है।


टीम स्टेट टुडे



4 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0