google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

रामपुर की एमपी-एमएलए कोर्ट के फटाफट फैसलों से आजम समेत कई माननीय बेचैन


रामपुर, 6 अगस्त 2022 : रामपुर की स्पेशल एमपी-एमएलए कोर्ट चार दिन के अंदर दो पूर्व मंत्रियों समेत चार नेताओं को सजा सुना चुकी है। इससे उन नेताओं की बेचैनी बढ़ गई है, जिनके खिलाफ अदालतों में मुकदमे विचाराधीन हैं। जिनमें विधायक आजम खां उनके बेटे विधायक अब्‍दुल्‍ला आजम, जयाप्रदा, प्रदेश सरकार में मंत्री बलदेव सिंह औलख शामिल हैं।

इसी माह के चार दिन में सजा पाने वाले नेताओं में पूर्व मंत्री शिव बहादुर सक्सेना, पूर्व मंत्री नवाब काजिम अली खां उर्फ नवेद मियां (Former Minister Naved Mia), पूर्व विधायक एवं कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव संजय कपूर (Former MLA Sanjay Kapoor) और जिला पंचायत अध्यक्ष ख्याली राम लोधी (District Panchayat President Khyaliram Lodh) शामिल हैं। नवेद मियां को तीन माह, संजय कपूर को छह माह, शिव बहादुर सक्सेना और ख्यालीराम लोधी को एक-एक माह की सजा हुई है। रामपुर में नेताओं के खिलाफ बड़े पैमाने पर मुकदमे विचाराधीन हैं।

सपा के राष्ट्रीय महासचिव एवं शहर विधायक आजम खां के खिलाफ 90, उनके बेटे विधायक अब्दुल्ला आजम के खिलाफ 43, पत्नी पूर्व सांसद डा. तजीन फात्मा (Tajin Fatma) के खिलाफ 34, चमरौआ विधायक नसीर खां के खिलाफ 30, प्रदेश के कृषि राज्य मंत्री बलदेव सिंह औलख के खिलाफ एक, फिल्म अभिनेत्री एवं पूर्व सांसद जयाप्रदा के खिलाफ दो मुकदमे विचाराधीन हैं।

इसके अलावा मिलक की भाजपा विधायक राजबाला और पूर्व विधायक अली युसूफ अली के खिलाफ भी मुकदमे चल रहे हैं। आजम खां के खिलाफ ज्यादातर मुकदमे भूमि विवाद से संबंधित हैं, जबकि अन्य जनप्रतिनिधियों के खिलाफ आचार संहिता के मामले हैं।

पुलिस कर कर रही पैरवी

पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार शुक्ला का कहना है कि वह पिछले तीन महीने से मुकदमों की पैरवी पर विशेष जोर दे रहे हैं। पुलिस और अभियोजन पक्ष के प्रयास से सजा मिल रही है। बिलासपुर में पांच साल पहले हुए दिन दड़ाड़े दोहरे हत्याकांड में भी आठ लोगों को भी उम्रकैद की सजा मिली है।

2 views0 comments

Comments


bottom of page