google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

राज्यों के 115 जिलों में बढ़ रहे कोरोना मामले, केंद्र ने की समीक्षा बैठक


नई दिल्ली, 20 जुलाई 2022 : देश के 9 राज्यों में स्थित 115 जिलों में केंद्र की ओर से कोरोना के हालातों की समीक्षा कराई गई। इसके अनुसार कोरोना मामलों और पाजिटिविटी में बढ़त दर्ज की गई है। साथ ही टेस्टिंग और वैक्सीनेशन में कमी को लेकर सचेत किया गया है। केंद्र ने राज्यों से हर दिन SARI और ILA की मानिटरिंग करने के साथ ही रिपोर्ट जमा कराने के लिए कहा है।

कोरोना वैक्सीनेशन व कोरोना टेस्टिंग हो तेज, केंद्र ने दी राज्यों को सलाह

इसके अलावा केंद्र ने लोगों के बीच वैक्सीनेशन को लेकर अवेयरनेस लाने का भी जिक्र किया और कहा कि जिन लोगों ने कोरोना वैक्सीन की दोनों खुराक ले ली है, उन्हें बूस्टर खुराक लेनी चाहिए। केंद्र सरकार ने राज्यों से कहा है कि कोरोना वैक्सीनेशन प्रोग्राम में तेजी लाएं और पहले, दूसरे व एहतियाती डोज को जिन लोगों ने नहीं लिया है उन्हें इसके लिए प्रेरित करें। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने अरुणाचल प्रदेश, मिजोरम, असम, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु और केरल में कोरोना के मामले बढ़ने को लेकर सतर्क किया।

दस फीसद से अधिक पाजिटिविटी रेट वाले जिलों में सख्ती के निर्देश

राज्यों को निर्देश दिया गया है कि जिन जिलों में पिछले सप्ताह पाजिटिविटी रेट 10 फीसद से अधिक है वे कोरोना संक्रमण के प्रति सचेत रहें और हालात की सख्त निगरानी करें। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने बुधवार को कोरोना हालातों की समीक्षा के लिए उच्चस्तरीय बैठक की। इसमें केरल, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, महाराष्ट्र, असम, आंध्र प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, मिजोरम और अरुणाचल प्रदेश के 9 राज्यों में कोविड हालातों की समीक्षा की गई। समीक्षा के दौरान चर्चा से पता चला कि देश में कोरोना टेस्टिंग में कमी आई है। लोग अब पहले की तुलना में टेस्ट कराने से कतराते हैं। कोरोना वैक्सीन की डोज लेने में भी लोगों का उत्साह कम हो गया है।

3 views0 comments

Kommentare


bottom of page