google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

स्वामी प्रसाद ने महिला आरक्षण बिल पर पूछा- क्यों रखी जा रही शर्त?


लखनऊ, 21 सितंबर 2023 : सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य ने सदन में महिला आरक्षण बिल के मुद्दे पर सवाल कर दिया है। स्वामी प्रसाद मौर्य ने पूछा कि बिल को पास करने के लिए परिसीमन और जनगणना जैसी शर्त क्यों रखी जा रही है। स्वामी ने यह बात X (ट्विटर) पर कही है। स्वामी का यह ट्वीट काफी ज्यादा ट्रेंड कर रहा है। स्वामी ने अपने ट्वीट में महिला आरक्षण बिल की तुलना EWS आरक्षण से जुड़े अधिनियम से की है।

ट्वीट में लिखी यह बात-

स्वामी प्रसाद मौर्य ने लिखा, ‘न क़ानून, न संविधान, न जनगणना विधेयक पास, EWS को आरक्षण का तत्काल लाभ। तो फिर 33 % महिला आरक्षण में जनगणना व परिसीमन का शर्त क्यों? कहीं यह गाड़ी के आगे काठ लगाने व चुनावी वैतरणी पार करने के लिए हवा-हवाई जुमला तो नहीं।’

विवादित बयानों के चलते सुर्खियों में बने स्वामी

बता दें कि अपने विवादित बयानों के चलते स्वामी प्रसाद माैर्य सुर्खियों में बने हुए हैं। सियासी गलियारों से लेकर मीडिया चैनलों में छाए हर मुद्दे पर स्वामी प्रसाद ने अपनी टिप्पणी की, जिससे कहीं न कहीं एक पक्ष को ठेस पहुंची तो वहीं स्वामी का समर्थन करने वालों ने इनके बयानों का स्वागत किया।

स्वामी प्रसाद को गिरफ्तार करने की मांग

हाल ही में स्वामी प्रसाद माैर्य के बयानों के कारण सोशल मीडिया पर लोगों ने नया ट्रेंड शुरू कर दिया था, जिसमें स्वामी प्रसाद को गिरफ्तार करने की मांग उठाई गई। इंटरनेट यूजर्स ने हैश टैग #ArrestSwamiPrasadMaurya के साथ उत्तर प्रदेश पुलिस को भी टैग किया और कहा कि स्वामी को तुरंत गिरफ्तार किया जाए।

‘हिंदू’ पर भी की विवादित टिप्पणी

दो दिन पहले उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में हिंदू शब्द पर टिप्पणी की थी। स्वामी ने कहा था कि हिंदू फारसी शब्द है। फारसी में इसका मतलब चोर, नीच, अधम है। हम इसे धर्म कैसे मान सकते हैं। उनके इस बयान से काफी शोर-शराबा हुआ, जिसके बाद अब महिला आरक्षण बिल पर टिप्पणी की है।

0 views0 comments

Comments


bottom of page