google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

टिकैत और राजभर ने आशीष मिश्रा की जमानत रद होने के फैसले को सराहा


लखनऊ, 18 अप्रैल 2022 : लखीमपुर खीरी जिले के के तिकुनियां में बीते वर्ष तीन अक्टूबर की हिंसा के मुख्य आरोपित आशीष मिश्रा उर्फ मोनू की जमानत को सुप्रीम कोर्ट के रद करने देने के फैसले को किसान नेता राकेश टिकैत के साथ पूर्व कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने काफी सराहा है। इस कांड के बाद भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने लखीमपुर खीरी का कई बार दौरा किया था। इनके साथ ही सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के मुखिया पूर्व कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने केन्द्र के साथ राज्य सरकार पर कटाक्ष किया है। टिकैत तथा राजभर ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अब भरोसा जताया है कि लखीमपुर खीरी के मृत मृत किसानों के परिवारीजन को अब न्याय मिलेगा।

राकेश टिकैत ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट को महसूस होने लगा था कि तिकुनियां कांड में उत्तर प्रदेश सरकार ने कोर्ट में तथ्य प्रस्तुत नहीं किए, इसी कारण आशीष मिश्रा उर्फ मोनू की जमानत को रद किया गया है। टिकैत ने कहा कि हमें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है और उम्मीद है कि आने वाले समय में किसानों को न्याय मिलेगा। राकेश टिकैत ने कहा कि अब तो इस प्रकरण में केन्द्र सरकार में गृह मंत्री अजय मिश्रा टेनी को इस्तीफा दे देना चाहिए। अगर वह इस्तीफा नहीं देते हैं तो सरकार को उनको मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर देना चाहिए।

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रदेश सरकार के पूर्व कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि मैं तो सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करता हूं, क्योंकि आठ लोगों की हत्या के मामले में किसी भी आरोपित को जमानत मिलना अन्याय है। अब तो किसानों को तभी न्याय मिलेगा जब दोषी को सख्त से सख्त सजा मिलेगी।

लखीमपुर खीरी की हिंसा में मृत पत्रकार रमन कश्यप के भाई ने भी शीर्ष कोर्ट के फैसले को मील का पत्थर बताया। पवन कश्यप ने कहा कि मैं न्याय देने के लिए सुप्रीम कोर्ट को धन्यवाद देता हूं। मैं वकीलों को भी मामले को मजबूती से रखने के लिए धन्यवाद देता हूं। आज न्यायपालिका पर हमारा भरोसा और बढ़ गया है।
18 views0 comments

Comments


bottom of page