google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

'हमें अगली स्वास्थ्य इमरजेंसी को रोकने के लिए तैयार रहना चाहिए


नई दिल्ली, 18 अगस्त 2023 : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को देश की जनता से भविष्य में आने वाले स्वास्थ्य इमरजेंसी की स्थिति से लड़ने और इसे रोकने के लिए तैयार रहने का आग्रह किया। जैसे कोविड के समय लोगों ने अपना साहस दिखाया।

जी-20 की बैठक को पीएम ने किया संबोधित

गुजरात की राजधानी गांधीनगर में जी-20 स्वास्थ्य मंत्रियों की बैठक को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए संबोधित करते हुए उन्होंने सभी से अगली स्वास्थ्य आपात स्थिति को रोकने, उसके लिए तैयारी करने और प्रतिक्रिया देने के लिए तैयार रहने का आह्वान किया।

पीएम मोदी ने कहा

डिजिटल समाधान और नवाचार हमारे प्रयासों को न्यायसंगत व समावेशी बनाने के उपयोगी साधन हैं। वैश्विक स्वास्थ्य पर वैश्विक पहल विभिन्न डिजिटल स्वास्थ्य पहलों को एक साझा मंच पर लाएगी। आइए अपने नवाचारों को जनता की भलाई के लिए खोलें। आइए हम वित्त पोषण (फंडिंग) के दोहराव से बचें।

प्रौद्योगिकी की समान उपलब्धता को सुविधाजनक बनाने की अपील

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आइए हम प्रौद्योगिकी की समान उपलब्धता को सुविधाजनक बनाएं। यह पहल वैश्विक दक्षिण के देशों को स्वास्थ्य सेवा वितरण में अंतर को कम करने की अनुमति देगी। यह हमें सार्वभौमिक स्वास्थ्य कवरेज (यूएचसी) प्राप्त करने के हमारे लक्ष्य के एक कदम और करीब ले जाएगा।

तय समय से पहले भारत में टीबी होगा खत्म

पीएम मोदी ने जी-20 सदस्यों को बताया कि भारत लोगों की भागीदारी की मदद से वैश्विक समय सीमा से पहले ही क्षय रोग (टीबी) को खत्म कर देगा। मोदी ने कहा कि हमने देश के लोगों से टीबी उन्मूलन के लिए नि-क्षय मित्र बनने का आह्वान किया है। इसके तहत लगभग 10 लाख मरीजों को नागरिकों ने गोद लिया है।

उन्होंने कहा कि अब हम 2030 के वैश्विक लक्ष्य से काफी पहले टीबी उन्मूलन हासिल करने की राह पर हैं। उन्होंने कहा कि हमें अगली स्वास्थ्य आपात स्थिति (जैसे कि कोविड-19) को रोकने, उसके लिये तैयारी करने और प्रतिक्रिया देने के वास्ते तैयार रहना चाहिए।

0 views0 comments

Comentarios


bottom of page