google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

हथियारों के लिए दूसरों के भरोसे नहीं रह सकता भारत, बनना होगा आत्मनिर्भर – रक्षामंत्री


हैदराबाद, 2 अप्रैल 2022 : रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को हैदराबाद में चेतक हेलीकाप्टरों के डायमंड जुबली के मौके पर आयोजित समारोह को संबोधित किया। उन्होंने कहा, पिछले कुछ वर्षों की घटनाओं को देखते हुए हमारी सरकार ने डिफेंस प्रोडक्शन में आत्मनिर्भरता पर बल दिया है। अतीत में हम डिफेंस प्रोडक्शन के क्षेत्र में अपेक्षित गति से आगे नहीं बढ़ पाए।'

रक्षा मंत्री ने आगे कहा, 'हमें रक्षा के क्षेत्र में अपने कंधों को मजबूत करना होगा। रक्षा क्षेत्र में अपनी जरूरतों के लिए दूसरे देशों पर निर्भर नहीं रह सकते हैं। अब तक भारत ने केवल सभ्यतागत मूल्यों, शांति और सच्चाई के लिए हथियार उठाए हैं। भारत की मंशा कभी किसी के खिलाफ हमले की नहीं रही है। इसस पहले रक्षा मंत्री ने कहा कि देश ने अतीत में रक्षा उत्पादन क्षेत्र में प्रगति नहीं की और दूसरे देशों पर अपनी रक्षा जरूरतों के लिए आश्रित रहे।

रक्षा मंत्री ने भारत ने हेलीकाप्टरों के डिजायन, डेवलपमेंट और आपरेशन में मजबूती हासिल कर ली है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को कहा कि वैश्विक नेता बनने के क्रम में 10 टन के भारतीय मल्टीरोल हेलीकाप्टर के डिजाइन को बेहतर बनाने की जरूरत है। डायमंड जुबली समारोह में रक्षा मंत्री ने बताया कि किए गए आकलन के अनुसार 1000 Civilian हेलीकाप्टरों की जरूरत है और इतनी ही संख्या में मिलिट्री सेक्टर में हेलीकाप्टरों की जरूरत है।

1 view0 comments

Comments


bottom of page