google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

55 लाख श्रमिकों को मिलेगा आयुष्मान का लाभ, 25 जुलाई से 14 अगस्त तक बनाए जाएंगे गोल्डन कार्ड


लखनऊ, 22 जुलाई 2022: उप्र भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड से पंजीकृत 55 लाख निर्माण श्रमिकों को आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना और मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना का लाभ दिया जाएगा। यह एक वर्ष में अपने परिवार सहित पांच लाख रुपये तक का मुफ्त इलाज करवा सकेंगे।

आजादी के अमृत महोत्सव के तहत इन सभी निर्माण श्रमिकों का गोल्डन कार्ड बनाने के लिए 25 जुलाई से 14 अगस्त तक विशेष अभियान चलाया जाएगा। 11 अगस्त से ही बन चुके गोल्ड कार्डों का वितरण शुरू कर दिया जाएगा। पांच लाख रुपये तक के मुफ्त इलाज की सुविधा प्राप्त करने के लिए गोल्डन कार्ड होना जरूरी है।

जानकारी न होने के कारण कोई भी श्रमिक इस योजना के लाभ से वंचित न हो इसके लिए प्रचार-प्रसार किया जाएगा। सभी जिलाधिकारियों व श्रम विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि वह गोल्डन कार्ड बनाने में बिल्कुल भी लापरवाही न बरतें। पंजीकृत निर्माण श्रमिकों के गोल्डन कार्ड सभी जन सेवा केंद्रों पर बनाए जाएंगें।

श्रमिकों के कल्याण के लिए प्रदेश सरकार पूरी तरह प्रतिबद्ध है। वर्ष 2022-23 में उप्र भवन एवं सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड की ओर से विभिन्न योजनाओं के लिए करीब 306 करोड़ रुपये की धनराशि दी जा चुकी है। यही नहीं सरकार श्रमिकों को तीर्थ यात्रा पर भेजने के लिए श्रवण कुमार श्रमिक परिवार धार्मिक पर्यटन यात्रा योजना के तहत उन्हें 12 हजार रुपये भी दे रही है।

बता दें कि प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 2018 को लांच किया गया था। इस योजना को पीएमजेवाई के नाम से भी जाना जाता है। पीएम जन आरोग्य योजना को आयुष्मान भारत योजना के तहत शुरू किया गया है। यह आयुष्मान भारत योजना का दूसरा घटक है। इसके अंतर्गत हर परिवार को प्रति वर्ष पांच लाख रुपये तक का मुफ्त इजाल करने की सुविधा प्रदान की जा रही है।

1 view0 comments