google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

UP में करीब आठ हजार मदरसे गैर मान्यता प्राप्त, 15 तक DM देंगे सर्वे रिपोर्ट


लखनऊ, 1 नवंबर 2022: उत्तर प्रदेश में मदरसोंके सर्वे काकाम पूरा होगया है। जिलोंमें रिपोर्ट कंपाइलकी जा रहीहै, जो कि 15 नवंबर को शासनके गृह विभागको सौंपी जाएगी।इस सर्वे मेंपता चला हैकि उत्तर प्रदेशमें करीब आठहजार मदरसे गैरमान्यता प्राप्त हैं। इनमेंभी सर्वाधिक पीतलनगरीमुरादाबाद में हैं।

उत्तर प्रदेश मेंमदरसों के सर्वेका काम दससितंबर से प्रारंभकिया गया है।जिलों में सर्वेके बाद शासनको 15 अकटूबर तकरिपोर्ट प्रेषित की जानीथी, लेकिन इसको 15 नवंबर तक बढ़ादिया गया है।अब सभी जिलाधिकारी 15 नवंबर तक मदरसोंकी रिपोर्ट शासनको देंगे।

मान्यता प्राप्त कुल 16,513 मदरसे

प्रदेश में उत्तरप्रदेश मदरसा शिक्षा परिषदसे मान्यता प्राप्त (Recognized Madarsa) कुल 16,513 मदरसे हैं। इनमेंबड़ी संख्या मेंमदरसे बगैर मान्यताके भी चलरहे हैं। इन्हींके बारे मेंजानकारी करने केलिए सरकार नेमदरसा सर्वे करायाहै। इसमें करीबआठ हजार गैरमान्यता प्राप्त मदरसे मिलेहैं। ऐसे मेंप्रदेश में कुलमदरसों की संख्याअब 24 हजार सेअधिक हो गईहै।

मदरसा बोर्ड केचेयरमैन डा. इफ्तिखारअहमद जावेद नेबताया कि सर्वेसे प्राप्त आंकड़ोंके आधार परही यहां पढऩेवाले बच्चों केलिए गुणवत्तापूर्ण शिक्षाकी व्यवस्था सरकारकरेगी। यहां केबच्चों को देशव समाज कीमुख्यधारा में लानेकी कोशिश कीजाएगी। उन्होंने एक बारफिर स्पष्ट कियाकि प्रदेश मेंगैर मान्यता प्राप्तमदरसों के सर्वेसे किसी भीप्रकार का वैधअथवा अवैध काडाटा नहीं मिलपाएगा।

रिपोर्ट 31 अक्टूबर तकजिलाधिकारियों को प्रदानकी

उत्तर प्रदेश मेंमदरसों के सर्वेका काम पूराहो गया है।इस दौरान करीबआठ हजार मदरसेगैर मान्यता प्राप्तमिले हैं। प्रदेशके सभी 75 जिलोंमें सर्वे काकाम लगभग पूराहोने के बादमदरसों के सर्वेके लिए गठितटीम ने अपरजिलाधिकारी (प्रशासन) के माध्यमसे अपनी रिपोर्ट 31 अक्टूबर तक जिलाधिकारियोंको प्रदान कीहै। प्रदेश केसभी जिलों मेंअब डीएम कार्यालयमें रिपोर्ट कोकंपाइल किया जारहा है। रिपोर्टको जिलाधिकारी 15 नवंबरतक शासन कोउपलब्ध कराएंगे।

मुरादाबाद में सर्वाधिक 550 से अधिक गैरमान्यता प्राप्त मदरसे

उत्तर प्रदेश सरकारका दावा हैकि यह सर्वेअसली नकली कानहीं बल्कि शिक्षाऔर शिक्षा केकेंद्र की उनकीसंख्या, उनकी व्यवस्थाआदि की सहीजानकारी प्राप्त करना है।सर्वाधिक 550 से अधिकगैर मान्यता प्राप्तमदरसे मुरादाबाद मेंमिले हैं। बस्तीमें 350, लखनऊ में 100, प्रयागराज में 90, आजमगढ़ 95, मऊमें 90 व कानपुरमें 85 से अधिकमदरसे मिले हैं।

मदरसों के सर्वेका काम पूराकरने के शासनने पहले आखिरीतारीख 15 अक्टूबर तय कीथी। सर्वे कीपूरी रिपोर्ट 15 नवंबरतक जिलाधिकारी केजरिए राज्य सरकारको भेजी जाएगी।सर्वे से प्राप्तआंकड़ों के आधारपर बच्चों केलिए गुणवत्तापूर्ण शिक्षाकी व्यवस्था करतेहुए बेहतर विकासकरके उन्हें देशऔर समाज कीमुख्यधारा में लानेकी कोशिश कीजाएगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथके निर्देश परआला अधिकारियों नेसभी जनपदों मेंमदरसों के सर्वेको लेकर 11 बिंदुओंकी जांच काक्रम प्रारंभ करवायाथा।

0 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0