google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

आचार्य सोमेन्द्र शर्मा की चादरपोशी और आचार्य धर्मेन्द्र को पुष्पांजलि


लखनऊ, 5 अक्टूबर 2022 : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथगोरखपुर के बादगुरुवार को जयपुरके दौरे परथे। मुख्यमंत्री योगीआदित्यनाथ जयपुर के पवनधाम पंच पीठ, विराटनगर में आचार्यसोमेन्द्र शर्मा केचादरपोशी कार्यक्रम में शामिलहुए। इससे पहलेउन्होंने आचार्य धर्मेन्द्र कीसमाधि पर पुष्पांजलिअर्पित की।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथने कहा किहम सब जानतेहैं कि समर्थगुरु रामदास जीने एक अखंडहिंदवी साम्राज्य के लिएछत्रपति शिवाजी जैसा सर्वश्रेष्ठमहान योद्धा देशको दिया था।उसी परंपरा अनुरूपभक्ति शक्ति कीखोज के लिएराजस्थान में इसविराटनगर में श्रीपंचखण्डपीठ ने अग्रणीभूमिका निभाई है। भारतविभाजन के समयउस समय विभाजनका विरोध मेंजो संतो काआंदोलन चला,उसमेभी इस पीठकी अग्रणी भूमिकाथी।

योगी आदित्यनाथने कहा आचार्यधर्मेन्द्र महराज उस आंदोलनमें अग्रणी थे।देश के हितमे नागरिक काक्या दायित्व होनाचाहिए। उस आंदोलनमें श्री पंचपीठ ने अग्रणीभूमिका निभाई। 1966 के गोरक्षाआंदोलन में श्रीपंच पीठ नेपरंपरा निभाई। तब आचार्यधर्मेन्द्र ने गौशालाके नाम परएक सीख दीथी,इसी सेगौरक्षा की परंपरासे आमजनमानस आगेजुड़ा।

उन्होंने कहा किश्रीराम जन्मभूमि आंदोलन 1949 सेशुरू हुआ। पूरेदेश में विश्वहिंदू परिषद केमाध्यम से धारदी गई, लेकिनसंतो ने बिनाफल की इच्छाके इसे आगेबढ़ाया। आज तोअयोध्या में वोसाकार हो रहाहै। वहां परअब तक 50 फीसदीसे ज्यादा कार्यहो चुका है।इसके बाद जबआचार्य धर्मेंद्र अयोध्या पधारेतो उनकी खुशीका ठिकाना नहीरहा। संतों नेअपने कर्तव्यों काहमेशा पालन किया।सम विषम परिस्थितियोंमें किसी कीपरवाह नहीं की।इसी का परिणामहै कि विराटहिन्दू समाज आजपूज्य आचार्य जीका सम्मान करताहै। सनातन धर्मके प्रति कियेगए उनके कार्यउन्हें हमेशा हमारे बीचबनाये रखेगा। आजभले ही वोहमारे बीच नहींहैं।

सीएम योगीआदित्यनाथ ने कहाकि सनातन धर्मकी रक्षा केलिए हर आंदोलनमें आचार्य धर्मेन्द्रजी ने बढ़चढ़कर हिस्सा लिया।गोरक्षपीठ के साथउनका सम्बंध तीनपीढिय़ों का था, मैं उन्हें गोरक्षपीठकी तरफ सेउन्हें नमन करताहूं। मुझे प्रसन्नताहै कि आचार्यजी की परंपराको स्वामी सोमेनद्रने निर्वाहन करनेके लिए प्रणलिया गया है।स्वामी सोमेंद्र महराज़ आचार्यजी की परंपराको आगे बढ़ाएंगे।उनके प्रति औरश्री पंचपीठ केसाथ हमारी सद्भावनाहै। आप सभीभक्तों, शुभचिंतकों के प्रतिअपना आभार प्रकटकरता हूं।

सीएम योगीआदित्यनाथ ने गुरुवारको श्री पंचकुंडपीठ विराट नगरमें पीठाधीश्वर आचार्यस्वामी धर्मेन्द्र महाराज के 19 सितंबर को देवलोकगमनके बाद उनकेउत्तराधिकारी पुत्र सोमन्द्र शर्माकी चादरपोशी की।उन्होंने जयपुर में सबसेपहले आचार्य धर्मेन्द्रकी समाधि परपुष्पांजलि अर्पित की। पीठाधीश्वरस्वामी धर्मेन्द्र महाराज केब्रह्मलीन होने केबाद स्वामी धर्मेन्द्रके पुत्र सोमेन्द्रशर्मा उनकी गद्दीपर विराजमान होंगे।

सीएम योगीआदित्यनाथ आज आश्रममें आचार्य सोमेन्द्रशर्मा शर्मा केचादरपोशी कार्यक्रम में शामिलहोंगे। इस कार्यक्रममें देशभर केसंत और मठाधीशशामिल थे। सीएमयोगी आदित्यनाथ विराटनगरमें पावनधाम श्रीपंचखण्ड पीठ मेंचादरपोशी व संतसमागम कार्यक्रम मेंहिस्सा लेने केबाद भंडारे मेंभी शामिल हुए।इसके बाद वहलखनऊ के लिएभी रवाना गए।

इससे पहलेसीएम योगी आदित्यनाथगोरखपुर से जयपुरके लिए रवानाहुए। जयपुर एयरपोर्टपर उनका स्वागतकिया गया। इसकेबाद वहां सेवह हेलिकाप्टर केजरिए विराटनगर पहुंचे।इस दौरान अलवरके सांसद महंतबालक नाथ भीसीएम योगी आदित्यनाथके साथ थे।

1 view0 comments