google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

आफताब का होगा Narco Test, दिल्ली कोर्ट से मंजूरी, पुलिस को 5 दिन की रिमांड


दिल्ली, 17 नवंबर 2022 : दिल्ली के महरौली में श्रद्धा वालकर की हत्या मामले में आरोपित आफताब को साकेत कोर्ट ने पांच दिन की दिल्ली पुलिस की हिरासत में भेज दिया है। वहीं, कोर्ट ने नार्को टेस्ट की भी मंजूरी दे दी है। पुलिस ने अदालत को बताया कि वह जांच के लिए आरोपित को उत्तराखंड और हिमाचल ले जाएगी।

आफताब की वीडियो कान्फेंस के जरिए पेशी हुई। आरोपित की पांच दिन की रिमांड बृहस्पतिवार को खत्म हो गई थी, इसलिए पुलिस ने कोर्ट से जांच के लिए आफताब की कस्टडी बढ़ाने की मांग की थी। वहीं, आरोपित को वीआईपी ट्रीटमेंट मिलने से वकील भड़क गए। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि आरोपित पर संभावित हमले के मद्देनजर दिल्ली पुलिस ने वीडियो कान्फ्रेंस के जरिए आफताब की पेशी की। इसी पर वकील नाराज हो गए। वो पुलिस पर आरोपित को वीआईपी ट्रीटमेंट देने का आरोप लगा रहे हैं।

CCTV फुटेज के जरिए शव की तलाश कर रही पुलिस

बता दें कि पुलिस को अभी तक श्रद्धा का शव या वह हथियार नहीं मिला है, जिससे आफताब ने उसके शरीर के 35 टुकड़े कर उन्हें दिल्ली के छतरपुर और महरौली इलाकों में फेंका था। मामले को लेकर पुलिस अधिकारियों ने कहा है कि वे श्रद्धा की हत्या से तीन दिन पहले उनके किराए पर लिए गए फ्लैट के पास लगे कैमरों से फुटेज जुटा रहे हैं।

करीब सात महीने बाद हुआ खुलासा

महाराष्ट्र के पालघर की रहने वाली श्रद्धा वालकर दिल्ली के महरौली में किराए के घर में लिव-इन-पार्टनर आफताब के साथ रहती थी। आरोपित ने श्रद्धा की हत्या कर उसके 35 टुकड़े कर दिए। इसके बाद एक नया फ्रिज लेकर शव के टुकड़ों को फ्रिज में रख दिया था। फिर वह हर दिन बैग में शव के टुकड़े को रखकर महरौली के जंगल में फेक आता था।

आफताब की वजह से पिता से टूटा था रिश्ता

श्रद्धा मुंबई के एक कॉल सेंटर में आफताब से मिली थी। 2019 में श्रद्धा एक दिन अचानक आफताब को लेकर अपने घर आ गई थी और उसने मां से कहा था कि वह उसके साथ कहीं लिव इन रिलेशनशिप में रहना चाहती है। बेटी की यह बात सुनकर उसकी मां चौंक गई थी। उन्होंने समझाते हुए श्रद्धा से कहा था कि यहां अंतर धार्मिक विवाह नहीं हो सकता है। इसपर छूटते ही श्रद्धा ने कहा था कि मैं 25 साल की हो गई हूं। मुझे अपने फैसले लेने का पूरा अधिकार है। मुझे आफताब के साथ ही रिलेशनशिप में रहना है। मैं आज से आपकी बेटी नहीं हूं और अपने माता-पिता को छोड़कर दिल्ली रहने आ गई थी।

जब श्रद्धा का कोई अपडेट नहीं मिला तो पिता ने दर्ज कराई FIR

2021 में मां के निधन के बाद श्रद्धा ने अपने पिता से सिर्फ दो बार ही बात की थी। जब काफी दिनों तक पिता की बेटी श्रद्धा से बात नहीं हुई (और सोशल मीडिया पर अपडेट नहीं था) तो उन्होंने सितंबर में ही मानिकपुर थाने में पुलिस से शिकायत की। फिर दिल्ली में श्रद्धा का पता चलने पर मुंबई पुलिस ने दिल्ली पुलिस से जांच में मदद मांगी।

गला दबाकर हत्या के बाद किए टुकड़े

दिल्ली पुलिस ने जब आरोपित को गिरफ्तार किया तो पता चला कि श्रद्धा उसके साथ शादी करना चाहती थी और आफताब शादी से लगातार इनकार कर रहा था। इसी कारण दोनों में झगड़ा होता था। इसी बीच 18 मई को आरोपित ने श्रद्धा की गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद हत्या को छिपाने के लिए मृतका के शरीर को कई हिस्सों में काटकर रेफ्रिजरेटर में रख दिया। चूंकि लड़के ने रसोइए की पढ़ाई की थी और उसे मीट वगैरह संरक्षित करके रखने के बारे में जानकारी थी। इसी के चलते उसने मृतका के शरीर को संरक्षित करके रख लिया।

यह सिलसिला 18 दिन तक चलता रहा। वह हर रात को दो बजे शव का एक हिस्सा जाकर फेंक आता था। पुलिस को पहली बार 8 नवंबर को मामले की जानकारी मिली और पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया।

1 view0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0