google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

अखिलेश अब नगरीय निकाय चुनाव में दिखाएंगे दमखम, सपा विधायकों को बनाया पर्यवेक्षक


लखनऊ, 27 अगस्त 2022 : लोकसभा उपचुनाव में मिली हार के बाद अब समाजवादी पार्टी नगरीय निकाय चुनाव में अपना दमखम दिखाएगी। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव नगरीय निकाय चुनाव की तैयारियों में जुट गए हैं। सपा इसके जरिये अपने संगठन को निचले स्तर तक मजबूत करेगी।

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने नगर पालिका परिषद व नगर पंचायतों के चुनावों की तैयारी के लिए उस क्षेत्र के विधायकों को पर्यवेक्षक नामित कर दिया है। जहां सपा के विधायक नहीं हैं, वहां विधानसभा चुनाव लड़ चुके पार्टी प्रत्याशियों को पर्यवेक्षक बनाया गया है।

समाजवादी पार्टी ने विधानसभा चुनाव से पहले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव भी मजबूती से लड़ा था और कई जिलों में परचम लहराया था। हालांकि, वर्ष 2022 के विधानसभा चुनाव में सपा को अपेक्षाकृत सफलता नहीं मिली थी। अब सपा नगरीय निकाय चुनाव पूरी मजबूती के साथ लड़ने जा रही है।

सपा के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम ने शुक्रवार को पर्यवेक्षक बनाए जाने का पत्र जारी कर दिया है। इसमें उन्होंने कहा है कि सभी पर्यवेक्षक विस्तारित व नवगठित नगर पालिका परिषद व नगर पंचायतों में वार्ड के निर्धारण व परिसीमन के काम ठीक तरीके से करवाएं। पिछड़ी जाति की गणना के लिए रैपिड सर्वे के कार्य में हो रही गड़बड़ी को भी ठीक कराएं।

सपा ने पर्यवेक्षकों से कहा है कि मतदाता सूची में नाम बढ़वाने, कटवाने, बदलवाने का काम पार्टी हित में किया जाए। इससे पहले सपा नगर निगमों के चुनाव के लिए अपने शीर्ष नेताओं व विधायकों को प्रभारी बना चुकी है। वहीं, पार्टी का सदस्यता अभियान भी इस समय जोरों पर चल रहा है।

इसके खत्म होने के बाद प्रभारी व पर्यवेक्षक प्रत्याशी चयन के काम में सहयोग करेंगे। पार्टी इस बार पूरी मजबूती से निकाय चुनाव लड़ने की तैयारी में जुट गई है। इसके लिए उसने निकाय चुनाव के लिए वोटरों को साधने की रणनीति बनानी शुरू कर दी है।

2 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0