google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

अखिलेश छत्तीसगढ़ से शुरू करेंगे विधानसभा चुनावों की मुहिम


लखनऊ, 22 सितंबर 2023 : समाजवादी पार्टी लोकसभा चुनाव से पहले हो रहे पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में छत्तीसगढ़ से प्रचार अभियान की शुरुआत करेगी। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का 25 सितंबर को रायपुर जाने का कार्यक्रम बन रहा है। यहां पर एक सार्वजनिक कार्यक्रम व पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ संवाद भी कर सकते हैं। सपा मुखिया इसके बाद मध्य प्रदेश व राजस्थान में भी ताकत लगाएंगे।

छत्तीसगढ़ में सबसे कमजोर है सपा

वर्ष 2024 के लोकसभा चुनाव से पहले पांच राज्यों मिजोरम, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, राजस्थान व तेलंगाना के विधानसभा चुनाव हो रहे हैं। सपा मध्य प्रदेश, राजस्थान व छत्तीसगढ़ में पिछले कई वर्षों से चुनाव लड़ती आ रही है। इन तीनों राज्यों में सपा सबसे कमजोर छत्तीसगढ़ में है। इसलिए सपा अध्यक्ष इस बार छत्तीसगढ़ को मजबूत करने के लिए अपना चुनावी अभियान यहां से शुरू करेंगे। यहां कुल 90 विधानसभा सीटें हैं। सर्वाधिक 52 सीटों पर सपा ने राज्य बनने के बाद वर्ष 2003 में हुए पहले विधानसभा चुनाव में लड़ा था। उस समय उसे 1.57 प्रतिशत मत मिले थे। वर्ष 2018 के चुनाव में सपा ने यहां 17 सीटों पर चुनाव लड़ा था और उसे एक प्रतिशत से भी कम मत मिले थे।

कांग्रेस पर अधिक से अधिक सीटें देने के लिए दबाव बना रही सपा

इस बार बड़ी तैयारी के साथ सपा यहां चुनाव लड़ने जा रही है। यहां पर कांग्रेस की सरकार है और सपा भी आइएनडीआइए गठबंधन में शामिल है। सपा यहां कांग्रेस पर अधिक से अधिक सीटें देने के लिए दबाव भी बना रही है। फिलहाल पार्टी की छत्तीसगढ़ इकाई ने करीब तीन दर्जन विधानसभा सीटों को चिह्नित किया है जहां वह अपने उम्मीदवार उतार सकती है। सपा अभी कांग्रेस के रुख का इंतजार कर रही है। सीटों के बंटवारे के बाद सपा यहां और जोर लगाएगी। अगर गठबंधन नहीं होता है तो भी सपा यहां अपने दम पर चुनाव लड़ेगी।

बढ़ती महंगाई व भ्रष्टाचार ने तहस-नहस किया आर्थिक ढांचा: अखिलेश

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने गुरुवार को कहा कि भाजपा सरकार में बढ़ती महंगाई और भ्रष्टाचार ने आर्थिक ढांचे को तहस-नहस कर दिया है। जनसामान्य का जिंदा रहना दूभर हो गया है। लोग बेबस और लाचार हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार ने महंगाई रोकने का कोई प्रयास नहीं किया। लोग कर्ज पर जीवन जीने को मजबूर हैं।

सपा मुखिया का आरोप भाजपा सरकार ने महंगाई रोकने का नहीं किया कोई प्रयास

सपा मुखिया ने कहा कि भाजपा सरकार की गलत नीतियों के कारण देश में रोजगार के अवसर घट रहे हैं। नौजवानों का भविष्य अंधकार में है और अपराध बढ़ रहे हैं। रिजर्व बैंक के ताजा आंकड़ों के अनुसार लोगों के घरेलू बजट पर बुरा प्रभाव पड़ने से कर्ज बढ़ रहा है। लोगों की बचत दर घटी है और देनदारियां बढ़ी हैं। बचत में हम 50 साल पीछे हो रहे हैं। लोगों की आमदनी में भारी कमी चिंता जनक है। अखिलेश ने कहा कि तेल, घी, दाल, आटा, सब्जी की कीमतों पर कोई रोक न लगने से लोगों का घरेलू बजट बिगड़ गया है।

सरकार की गलत नीतियों के कारण देश में घट रहे रोजगार के अवसर

डीजल, पेट्रोल, खाद, बीज के दाम बढ़ने से किसान की फसल की लागत बढ़ गई है। भवन निर्माण सामग्री ईंट, मौरंग, बालू आदि पर 18 प्रतिशत जीएसटी लगने से मध्यम वर्ग के सिर पर छत भी अब मुश्किल हो गई है। देश की अर्थव्यवस्था की जमीनी हकीकत जब निराशाजनक है तब लोगों को गुमराह करने के लिए कभी पांच ट्रिलियन डालर इकोनामी के लक्ष्य और वैश्विक स्तर पर पांचवें से तीसरी श्रेणी में छलांग लगाने का दावा है, जबकि लोगों की आमदनी घटने से देश की अर्थव्यवस्था चौपट हो गई है।|


0 views0 comments
bottom of page