google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

हाथ से फिसला विकास दुबे फिर फरार, फरीदाबाद में चूकी यूपी पुलिस,एसएचओ विनय तिवारी गिरफ्तार


कानपुर में आठ पुलिस कर्मियों की हत्या कांड का दोषी विकास दुबे आज पुलिस के हाथ से फिसल गया। विकास दुबे की लोकेशन हरियाणा के फरीदाबाद में ट्रेस हुई थी। वो यहां एक होटल में अंकुर के नाम से रुका था। होटल के सीसीटीवी में उसकी तस्वीर दिखाई दे रही है। पुलिस के पहुंचने से कुछ देर पहले ही उसने होटल छोड़ दिया। सड़क पर एक दुकान में लगे सीसीटीवी में उसकी तस्वीरें कैद हो गईं। विकास दुबे एक आटो में बैठकर फरार हो गया। इस बीच फरीदाबाद पुलिस ने भी एफआईआर दर्ज की है। जिसमें प्रभात ,अंकुर और अंकुर के पिता श्रवण को गिरफ्तार किया गया है। अंकुर और उसके पिता पर विकास और उसके गैंग को छिपाने का आरोप है।



यूपी पुलिस के हाथ बड़ी कामयाबी लगी है. यूपी के हमीरपुर में गैंगस्टर विकास दुबे का पर्सनल बॉडीगार्ड अमर दुबे ढेर हो गया है. अमर दुबे की तलाश पुलिस को लंबे समय से थी. विकास दुबे के साथ वह कई अपराधों में शामिल रहा है. कानपुर मुठभेड़ के अमर दुबे भी फरार था. कानपुर हमले के बाद अमर ने विकास को वहां से भगाने में भी मदद की.


उत्तर प्रदेश सरकार ने कानपुर कांड के मोस्टवांटेड विकास दुबे को दबोचने के लिए और शिकंजा कस दिया है। कानपुर के चौबेपुर के बिकरू गांव मे उत्तर प्रदेश पुलिस के डिप्टी एसपी सहित आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद फरार मुख्य आरोपित विकास दुबे पर प्रदेश सरकार ने और बड़ा इनाम घोषित कर दिया है। जांच के साथ ही विकास दुबे आपराधिक गतिविधियों बढ़ रही संलिप्तता को देखते हुए योगी सरकार ने उस पर इनाम राशि ढाई लाख से बढ़ाकर पांच लाख रुपये कर दी है। इसी के साथ विकास दुबे के लखनऊ स्थित घर पर भी एलडीए नज़र बनाये हुए है जिसको अब ढहाने की खबर है लेकिन इस खबर के बाद गैंगस्टर विकास दुबे के पड़ोस में रहने वाले लोग काफी परेशान हैं।


विकास दुबे एनकाउंटर केस में आरोपी बनाए गए चौबेपुर थाने के पूर्व SHO विनय तिवारी और एक सब इन्स्पेक्टर को गिरफ्तार कर लिया गया है। विकास दुबे के खजांची जय बाजपेई को भी हिरासत में ले लिया गया है।



उतर प्रदेश के एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार की प्रेस कांफ्रेंस के अहम बिंदु

- बिकरू गांव में दो जुलाई की रात हुए शूटआउट के बाद अब तक आरोपियों पर हुई कार्रवाई की जानकारी दी

- पुलिसकर्मियों की शहादत बेकार नहीं जाएगी, हर एक अपराधी पर होगी कार्रवाई।

- अब तक शूटआउट में शमिल रहे तीन बदमाशों को मार गिराया गया है। अन्य लोगों पर भी ऐसी ही कार्रवाई होगी।

- शुक्रवार को मुठभेड़ में दो बदमाश मारे गए थे। जिनके बाद एक पिस्टल व राइफल बरामद हुई थी। इस घटना में नामित व वांछित 50 हजार का इनामी अमर दुबे हमीरपुर में एसटीएफ और थाने की पुलिस के द्वारा मारा गया।वह बिकरू गांव का रहने वाला था।

- इसके अलावा एक अन्य आरोपी श्यामू बाजपेई, जहान यादव और संजीव दुबे को कानपुर नगर की पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इसमें जहान यादव का नाम एफआईआर में है, लेकिन संजीव दुबे का नाम प्रकाश में आया है।

- हरियाणा के फरीदाबाद में थाना खेरीकुल में मुठभेड़ के दौरान कार्तिकेय उर्फ प्रकाश, अंकुर और श्रवण को गिरफ्तार किया गया है। उनके पास से 9एममएकी दो सरकारी पिस्टल, 2 अन्य पिस्टल और 44 जिंदा कारतूस बरामद हुए हैं।

- तीनों बदमाशों को यूपी पुलिस रिमांड पर लेकर आई है। कानपुर कांड में लूटी गए असलहोंमें अब सिर्फ एके 47 और इंसास बरामद करना बाकी है।


टीम स्टेट टुडे



54 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0