google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

महाकुंभ में संगम नगरी में बसेगी 2000 बेड की टेंट सिटी


लखनऊ, 21 सितंबर 2023 : संगम के पावन तट पर दुनिया का सबसे बड़ा मेला महाकुंभ-2025 लगना है। पर्यटन विभाग देश-विदेश से आने वाले करोड़ों श्रद्धालुओं को व्यवस्थित तरीके से स्नान, ध्यान के साथ-साथ ठहरने का भी इंतजाम कर रहा है। अरैल क्षेत्र में 100 हेक्टेयर में टेंट सिटी सजाने की तैयारियां तेज हो गई हैं। इसमें करीब 60 दिनों तक 2000 बेड की व्यवस्था रहेगी।

टेंट सिटी में श्रद्धालुओं को अत्याधुनिक सुविधाएं मिलेंगी। त्रिवेणी तीरे 2019 में देश-दुनिया से बड़ी संख्या में लोग स्नान ध्यान के लिए आए और यहां से सुखद स्मृति लेकर गए थे। अब महाकुंभ होना है इसलिए प्रदेश सरकार 2025 में होने वाले महाकुंभ की तैयारियां तेज कर दी है। पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री जयवीर सिंह ने बताया कि 2025 में पहले की तुलना में और अधिक श्रद्धालुओं के आने की उम्मीद है।

दूर-दराज से आने वाले लोगों के सामने सबसे बड़ी समस्या ठहरने की होती है। पर्यटन विभाग इस समस्या का भी समाधान निकालने में जुटा है। पिछले दिनों आनलाइन आवास सुविधा उपलब्ध कराने वाली कंपनियों के साथ एमओयू हुआ। पर्यटन निगम की ओर से संगम तट पर टेंट कालोनी भी बसाई जाएगी।

टेंट सिटी में वेलनेस सेंटर व यज्ञशालाएं भी

पर्यटन मंत्री ने बताया कि महाकुंभ में टेंट सिटी के लिए तैयारी तेज हो गई हैं। कुंभ मेला प्राधिकरण पर्यटन विभाग को अरैल में 100 हेक्टेयर भूमि उपलब्ध कराएगा। बसने वाली टेंट सिटी में 2000 बेड की व्यवस्था रहेगी। यहां विला, सुपर डीलक्स और डीलक्स श्रेणी में अलग-अलग अत्याधुनिक सुविधाएं मिलेंगी। साथ ही फूड कोर्ट, वेलनेस सेंटर, यज्ञशाला आदि की भी व्यवस्था रहेगी।

24 करोड़ श्रद्धालुओं का टूटेगा रिकार्ड

पर्यटन मंत्री ने बताया कि महाकुंभ-2013 के समय प्रयागराज में जनवरी, फरवरी और मार्च के महीने में कुल सात करोड़ 86 लाख 65 हजार 500 पर्यटक आए थे, जबकि 2019 में अर्द्धकुंभ में तीन महीने के दौरान 24 करोड़ पांच लाख श्रद्धालु आए थे। इस प्रकार देखा जाय महाकुंभ की अपेक्षा अर्द्धकुंभ में 16 करोड़ 18 लाख 34 हजार 500 ज्यादा श्रद्धालु पहुंचे थे। महाकुंभ में श्रद्धालुओं का नया रिकार्ड बनने की उम्मीद है, इसीलिए सरकार अभी से महाकुंभ की तैयारियां कर रही है। श्रद्धालुओं की जरूरतों को देखते हुए बहुत तेजी से विकास कार्य कराए जाएंगे।

निवेश सम्मेलन में बसा था अयोध्या, काशी व प्रयागराज

राजधानी में फरवरी में हुए निवेश सम्मेलन में अतिथियों को ठहरने के लिए पर्यटन विभाग ने अवध विहार में अयोध्या, काशी व प्रयागराज नाम से तीन टेंट सिटी बसाई थी। इसमें ठहरने की अत्याधुनिक व्यवस्था की गई थी। वाराणसी में भी टेंट सिटी बस रही है। प्रयागराज में महाकुंभ के दौरान जलक्रीड़ा का भी प्रबंध करने की योजना है।

0 views0 comments

Bình luận


bottom of page