google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

अयोध्या में PFI का एक और सदस्य गिरफ्तार, लखनऊ NIA कोर्ट में पेशी के बाद भेजा जाएगा जेल


अयोध्या, 2 अक्टूबर 2022 : रामनगरी में पापुलरफ्रंट आफ इंडिया (पीएफआइ) का एकऔर सक्रिय सदस्यगिरफ्तार कर लियागया है। पकड़ागया अभियुक्त मोहम्मदजैद शहर केपुरानी सब्जी मंडी मोहल्लेका रहने वालाबताया जा रहाहै। वह लंबेसमय से इससंगठन के लिएकार्य रहा था।उसके पास सेपुलिस ने सरकारविरोधी पर्चे, पेन ड्राइव, मोबाइल फोन, उर्दूसाहित्य जैसी कईचीजें बरामद कियाहै।

जैद केरलमें आयोजित होनेवाले पीएफआइ केकार्यक्रमों में शामिलहोता रहा है।संगठन के शीर्षनेताओं के साथजैद के संबंधबताए गए हैं।अब तक दोलोगों की गिरफ्तारीयहां से होचुकी है। चारदिन पूर्व बीकापुरके कुढ़ा गांवमें पकड़े गएपीएफआइ कार्यकर्ता अरकम सेपूछताछ में जैदके बारे मेंजानकारी प्राप्त हुई थी।दोनों मिल कररामनगरी में पीएफआइकी गतिविधियों कासंचालन कर रहेथे।

अयोध्या में पीएफआइके और भीसक्रिय सदस्य होने कीआशंका में पुलिसएवं एनआइए नेरामनगरी में अपनीजांच तेज करदी है। जैदके विरुद्ध कोतवालीनगर में प्रभारीनिरीक्षक शमशेर बहादुर सिंहने प्राथमिकी दर्जकराई गई है।इसकी जांच सीओसिटी शैलेंद्र सिंहको सौंपी गईहै। जैद कोरीडगंज स्थित आंख अस्पतालतिराहा से गिरफ्तारकिया गया है।उसे लखनऊ स्थितएनआइए कोर्ट मेंपेश करने केउपरांत जेल भेजाजाएगा।

अभी तकहुई गिरफ्तारियों सेएक बात तोस्पष्ट है किपीएफआइ का मुख्यउद्देश्य 2047 तक भारतको मुस्लिम राष्ट्रबनाना है। इसकेलिए हिंदू-मुस्लिमको विघटित करनेके साथ हीकेंद्र एवं उत्तरप्रदेश की सरकारको बदनाम करनाभी इस संगठनके एजेंड मेंशामिल है। यहसंगठन इस्मालिक राष्ट्रोंसे मैत्री संबंधस्थापित कर भारतको अस्थिर करनेका षड़यंत्र कररहा है।
2 views0 comments

Comments


bottom of page