google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

आजम के गढ़ में CM कर सकते हैं विकास योजनाओं की बारिश, मेंथा उद्योग को मिलेगी संजीवनी


लखनऊ, 31 अगस्त 2022 : लोकसभा उपचुनाव में भाजपा को जिताने का इनाम अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद रामपुर की जनता को देंगे। इसके लिए वह सपा नेता आजम खां के गढ़ में जनसभा करने आ रहे हैं। इसी में कई बड़े विकास कार्यों की घोषणा भी कर सकते हैं।

समाजवादी पार्टी के नेता आजम खां रामपुर शहर से 10 बार विधायक बन चुके हैं। साल 2019 में वह पहली बार लोकसभा का चुनाव लड़े और जीत भी गए। लेकिन, लोकसभा की सदस्यता उन्हें रास नहीं आई। चुनाव जीतने के बाद उनके खिलाफ बड़े पैमाने पर मुकदमे दर्ज हुए। उन्हें बेटे विधायक अब्दुल्ला आजम और पत्नी पूर्व सांसद डॉ. तजीन फात्मा के साथ जेल जाना पड़ा। आजम खां सवा दो साल बाद जेल से छूट पाए। उन्होंने जेल में रहते हुए ही रामपुर विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा और जीत भी गए। इसके बाद उन्होंने लोकसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया।

इस पर जून में यहां लोकसभा चुनाव हुआ, जिसमें भारतीय जनता पार्टी के घनश्याम सिंह लोधी विजयी रहे। उन्होंने आजम खां के करीबी सपा नेता आसिम राजा को हरा दिया। आजम के गढ़ में घनश्याम सिंह की जीत भाजपा के लिए बड़ी उपलब्धि रही। इससे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत तमाम भाजपा नेता गदगद हुए।

मुख्यमंत्री उप चुनाव के दौरान रामपुर आए थे। उन्होंने बिलासपुर और पटवाई के पास जनसभाओं को संबोधित किया था। चुनाव जीतने के बाद मुख्यमंत्री ने भाजपा के तमाम नेताओं को अपने आवास पर बुलाया। उन्हें दावत दी और रामपुर को रिटर्न गिफ्ट देने की घोषणा की। जिले के अधिकारियों से भी विकास कार्यों के लिए प्रस्ताव मांगे।

इसके बाद अधिकारियों ने भी प्रस्ताव तैयार कर शासन को भेज दिए। बिलासपुर चीनी मिल जर्जर हालत में है। मशीनें बहुत पुरानी होने के कारण लगातार घाटा हो रहा है। किसानों को गन्ना मूल्य का भुगतान भी समय से नहीं हो पा रहा है। सरकार आर्थिक सहयोग करती है तभी भुगतान हो पाता है। मिलक में पटवाई मार्ग पर रेलवे क्रासिंग पर पुल न होने के कारण रोज जाम लगता है। क्षेत्र के लोगों की यह सब बड़ी समस्या है। पुल बनने से ही समस्या का समाधान हो सकेगा। उम्मीद है कि मुख्यमंत्री इन दोनों समस्याओं के समाधान के लिए घोषणा करेंगे।

मेंथा उद्योग के लिए भी हो सकती है घोषणा

रामपुर में मेंथा का बड़ा कारोबार है। यहां से हर साल 1750 करोड़ का मेंथा निर्यात होता है। मेंथा उद्योग को बढ़ावा देने के लिए भी मुख्यमंत्री घोषणा कर सकते हैं। जिले में थानों की हालत भी बदहाल है। कई इमारतें तो नवाबी दौर में बनी हुई है। इनकी हालत में सुधार की जरूरत है। पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार शुक्ला ने प्रस्ताव तैयार कर शासन को भेज दिया है। अधिकारी उम्मीद जता रहे हैं कि मुख्यमंत्री पुलिस को भी रिटर्न गिफ्ट देंगे ।

1 view0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0