google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

चुनाव से पहले बीजेपी में खलबली, तीन मंत्रियों सहित 14 विधायकों का इस्तीफा


लखनऊ, 13 जनवरी 2022 : उत्तर प्रदेश में 18वीं विधानसभा के गठन के पहले चरण के मतदान से पहले राजनीतिक खलबली मच गई है। प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार के तीन कैबिनेट मंत्रियों के साथ भारतीय जनता पार्टी के 14 विधायकों के इस्तीफे के बीच में भाजपा ने भी पहले तीन चरण के मतदान के लिए 172 प्रत्याशियों का चयन कर लिया है।

उत्तर प्रदेश में तीन दिन में तीन कैबिनेट मंत्रियों के साथ ही 14 विधायकों के भारतीय जनता पार्टी को छोड़ देने के बाद अब लोग इस बात का इंतजार कर रहे हैं कि आगे क्या होगा। गुरुवार को कैबिनेट मंत्री धर्म सिंह सैनी के साथ ही भारतीय जनता पार्टी के विधायक विनय शाक्य, डॉ. मुकेश वर्मा तथा बाला प्रसाद अवस्थी ने इस्तीफा दिया है। विनय शाक्य और वर्मा बसपा छोड़कर 2016 में स्वामी प्रसाद मौर्य के साथ भाजपा में शामिल हुए थे।

गुरुवार को धर्म सिंह सैनी के साथ भाजपा विधायक विनय शाक्य, मुकेश वर्मा और बाला प्रसाद अवस्थी ने भी इस्तीफा दे दिया है। इस प्रकार अब तक भाजपा से तीन मंत्रियों सहित 14 का इस्तीफा हो गया है। डा. मुकेश वर्मा फिरोजाबाद के शिकोहाबाद से पहली बार विधायक चुके गए थे। बाला प्रसाद अवस्थी लखीमपुर खीरी जिले से विधायक हैं। औैरैया के बिधूना से विधायक विनय शाक्य ने तीन दिन से इस्तीफे पर चल रही अटकलों पर गुरुवार को विराम दे दिया। पूर्व कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के इस्तीफा देने व सपा में शामिल होने के बाद से ही बिधूना विधायक विनय शाक्य के भी भाजपा छोडऩे की अटकलें तेज हो गई थीं।

विनय शाक्य के गुरुवार को इस्तीफे के बाद उनके समाजवादी पार्टी में जाने का रास्ता साफ हो गया है। वर्ष 2017 में बिधूना विधानसभा क्षेत्र से चुने गए भाजपा विधायक विनय शाक्य ने प्रदेश अध्यक्ष को सौंपे इस्तीफे में सरकार पर कूटनीतिपरक रवैया अपनाने का आरोप लगाया। विधायक बाला प्रसाद अवस्थी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में दलित व पिछड़ों के अन्याय हो रहा है। सामाजिक न्याय नही हो रहा है। बेटियों का उत्पीडऩ हो रहा है। किसानों के साथ अत्याचार हो रहा है। मैंने कई बार इनके पक्ष में कुछ करने का प्रयास किया, लेकिन अपनी ही सरकार का साथ नहीं मिला। आज पूरे प्रदेश में ब्राह्मण असहज है। पूरा प्रदेश अखिलेश यादव को बड़ी उम्मीद से देख रहा है।

इससे पहले मंगलवार को शाहजहांपुर के तिलहर से विधायक रोशन लाल वर्मा, बांदा के तिंदवारी से विधायक ब्रजेश प्रजापति तथा कानपुर के बिल्हौर से विधायक भगवती प्रसाद सागर ने भाजपा से इस्तीफा दिया था। अब तक स्वामी प्रसाद मौर्य, भगवती सागर, रोशनलाल वर्मा, विनय शाक्य, अवतार सिंह भाड़ाना, दारा सिंह चौहान, बृजेश प्रजापति, मुकेश वर्मा, राकेश राठौर, जय चौबे, माधुरी वर्मा, आरके शर्मा, बाला अवस्थी तथा धर्म सिंह सैनी ने इस्तीफा दे दिया।

14 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0