google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

बिहार विधानसभा चुनाव 2025 में भाजपा-जदयू के साथ पर लग रहीं अटकलें खत्म


पटना, 29 जुलाई 2022 : पटना में भाजपा के सात मोर्चों की संयुक्त कार्यसमिति की बैठक के अंतिम दिन रविवार को दो बातें बिल्कुल स्पष्ट कर दी गईं। भाजपा ने गृहमंत्री अमित शाह एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की उपस्थिति में नरेन्द्र मोदी को 2024 के लोकसभा चुनाव में तीसरी बार प्रधानमंत्री बनाने का संकल्प पारित किया। अमित शाह ने दावा किया कि भाजपा वर्तमान से ज्यादा सीटें जीतेगी। बिहार में जदयू के साथ भाजपा के संबंधों को भी स्पष्ट कर दिया गया। अमित शाह ने सारे कयासों पर विराम लगाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में ही भाजपा 2024 के लोकसभा एवं 2025 के विधानसभा चुनाव लड़ेगी।

ज्ञान भवन के अटल परिसर में पत्रकारों से बातचीत में भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री व पार्टी के मुख्यालय प्रभारी अरुण सिंह ने कहा कि 2025 तक नीतीश कुमार बिहार के मुख्यमंत्री रहेंगे। जदयू के साथ ही भाजपा आगामी लोकसभा और विधानसभा चुनाव लड़ेगी। अरुण सिंह ने मोर्चों के राष्ट्रीय पदाधिकारियों को अमित शाह द्वारा लोकसभा चुनाव तैयारियों को लेकर दिए टास्क संबंधित जानकारी भी दी। उन्होंने कहा कि बिहार में एनडीए में आपस में बहुत प्रेम और एकता है। भाजपा गठबंधन धर्म का पालन करती है और गठबंधन के साथियों को सदैव सम्मान देती है। गठबंधन में आपस में कोई खींचतान नहीं है। हम सब एक साथ हैं और आपस में परस्पर मिलकर आगामी चुनाव लड़ेंगे। अरूण सिंह ने बताया कि अमित शाह ने युवा, किसान, महिला, पिछड़ा, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अल्पसंख्यक मोर्चा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी को संबोधित किया।

मोदी सरकार में शोषित वंचित समाज के सर्वाधिक मंत्री

दरअसल, बिहार की राजनीति में सप्ताह भर से भाजपा के मोर्चों की संयुक्त राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक और अमित शाह के दौरे को लेकर तमाम अटकलें लगाई जा रही थीं। इसके लिए चर्चा यह भी थी भाजपा बिहार विधानसभा की 200 सीटों पर तैयारी कर रही है। इसी तैयारी को धार देने के लिए संयुक्त मोर्चा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक बिहार में हो रही है।

2 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0