google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

कोरोनाकाल में भरी है ईएमआई तो केंद्र सरकार का दिवाली में कैशबैक ऑफर



अगर आपने कोरोनाकाल के दौरान अपनी ईएमआई का भुगतान समय पर किया है और किश्त देने से सरकारी छूट नहीं ली है तो केंद्र सरकार आपके लिए बड़ा तोहफा लाई है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दिवाली से पहले लोन लेने वालों के लिए बड़ा ऐलान किया है।


जिन कर्जधारकों ने लोन मोराटोरियम का फायदा नहीं उठाया और लगातार ईएमआई चुकाई है तो ऐसे ग्राहकों को बैंक कैशबैक देगा।


किसे मिलेगा इसका लाभ?


2 करोड़ तक लोन वालों के लिए सरकार ने ब्याज पर ब्याज नहीं लेने का ऐलान किया था। ऐसे में अगर किसी का लोन अमाउंट 2 करोड़ तक है और उसने मोराटोरियम का फायदा नहीं उठाते हुए लगातार ईएमआई जमा की है तो उसे कैशबैक का लाभ मिलेगा।


कितना मिलेगा कैशबैक?


वित्त मंत्रालय ने इसको लेकर एक गाइडलाइन जारी की है। इस गाइडलाइन के मुताबिक, 6 महीने के कम्पाउंड इंट्रेस्ट में सिंपल इंट्रेस्ट को घटाकर जो अमाउंट बनता है, वह कैशबैक के रूप में कर्जधारकों को मिल जाएगा।


इस स्कीम का फायदा किसे मिलेगा?


अगर 29 फरवरी 2020 तक किसी का 2 करोड़ तक का लोन (चाहे वह पर्सनल, कार, होम, एजुकेश...) या तो सैंक्शन हो गया हो या फिर आउटस्टैंडिंग अमाउंट हो उसे इस स्कीम का फायदा मिलेगा।


मोराटोरियम पीरियड क्या है?


लॉकडाउन की घोषणा के बाद 27 मार्च को रिजर्व बैंक ने हालात के मद्देनजर बैंकों से कहा कि वे तीन महीने के

लिए ईएमआई चाहे वह लोन के लिए हो या फिर क्रेडिट कार्ड के लिए से कर्जधारकों को राहत दें। पहले इसे 1 मार्च से 31 मई तक लागू किया गया था। बाद में इसे 31 अगस्त तक बढ़ा दिया गया। मोराटोरियम के दौरान कर्जधारकों की ईएमआई टाल दी गई।


टीम स्टेट टुडे

31 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0