google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

आदिवासी देवियों के नाम पर Mulugu में बनाई जाएगी सेंट्रल ट्राइबल यूनिवर्सिटी


हैदराबाद, 1 अक्टूबर 2023 : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को तेलंगाना के महबूबनगर जिले में 13 हजार करोड़ से अधिक की विकास परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि 2014 में एलपीजी कनेक्शनों की संख्या लगभग 14 करोड़ थी, जो अब बढ़कर 32 करोड़ से ज्यादा हो गई है। हाल ही में हमने गैस सिलेंडर के दाम भी कम किए हैं।

पीएम मोदी ने तेलंगाना के लोगों को दी बड़ी सौगात

पीएम मोदी ने सड़क, रेल, पेट्रोलियम व प्राकृतिक गैस और उच्च शिक्षा जैसे महत्वपूर्ण क्षेत्रों में 13 हजार 500 करोड़ रुपये से अधिक की कई विकास परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। पीएम मोदी ने बटन दबाकर तेलंगाना के लोगों को यह सौगात दी।

ट्रेन सेवा को पीएम ने दिखाई हरी झंडी

पीएम मोदी ने इस दौरान वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए एक ट्रेन सेवा को भी हरी झंडी दिखाई। उन्होंने कहा कि देश के कई प्रमुख इकोनॉमिक कॉरिडोर तेलंगाना से होकर गुजर रहे हैं। ये सभी राज्यों को पूर्व और पश्चिमी तटों से जोड़ने का माध्यम बनेंगे।

हल्दी किसानों के लिए बड़ा एलान

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज मैं तेलंगाना की धरती से घोषणा कर रहा हूं कि केंद्र सरकार ने हल्दी किसानों के हित के लिए और उनकी आवश्यकता को देखते हुए National Turmeric Board का गठन किया है।

मुलुगु जिले में बनाई जाएगी सेंट्रल ट्राइबल यूनिवर्सिटी

पीएम मोदी ने कहा कि भारत सरकार मुलुगु में एक केंद्रीय आदिवासी विश्वविद्यालय (Central Tribal University) स्थापित करेगी। इसका नाम सम्मानित आदिवासी देवियों सम्मक्का-सरक्का के नाम पर रखा जाएगा। इस पर 900 करोड़ रुपये खर्च होंगे।

महिला आरक्षण विधेयक का किया जिक्र

पीएम मोदी ने कहा कि त्योहारों का मौसम शुरू हो गया है। नवरात्रि शुरू होने वाली है, लेकिन संसद में महिला आरक्षण विधेयक पारित करके हमने उससे पहले 'शक्ति' की पूजा करने की भावना स्थापित की है। उ्होंने कहा कि मैं तेलंगाना को 13 हजार 500 करोड़ रुपये की परियोजनाओं के लिए बधाई देता हूं। आज ऐसे कई रोड कनेक्टिविटी प्रोजेक्ट लॉन्च किए गए हैं, जो लोगों के जीवन में बड़े बदलाव लाएंगे।

नागपुर-विजयवाड़ा कॉरिडोर से आवागमन होगा आसान

प्रधानमंत्री ने कहा कि नागपुर-विजयवाड़ा कॉरिडोर के जरिए तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और महाराष्ट्र तक आवागमन सुविधाजनक होने जा रहा है। इससे इन तीनों राज्यों में व्यापार, पर्यटन और उद्योग को बढ़ावा मिलेगा। इस कॉरिडोर में आर्थिक केंद्रों की पहचान की गई है।

0 views0 comments

留言


bottom of page