google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

प्रमुख सचिव ने जिला अस्पताल का किया औचक निरीक्षण


पीलीभीत, 16 दिसम्बर 2022 : उ.प्र. शासन के प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा विभाग आलोक कुमार अपने निर्धारित भ्रमण कार्यक्रम के अनुसार शुक्रवार को जनपद पीलीभीत पहुंचे। इस दौरान प्रमुख सचिव द्वारा जिला चिकित्सालय का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने इमरजेंसी वार्ड में पहुंचकर प्रभारी सीएमएस पुरूष से भर्ती मरीजों के संबंध में जानकारी ली। इमरजेंसी वार्ड में आए मरीज किस वार्ड में भर्ती हैं और उन्हें प्राइमरी ट्रीटमेंट के सम्बन्ध में जानकारी ली। उन्होंने मरीजों की एग्जाममिंग रिपोर्ट देखी। इमरजेंसी वार्ड में भर्ती मरीजों के प्रपत्र पत्रों को भी देखा गया। इस दौरान उन्होंने पूछा कि हाइपरटेंशन के इलाज के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों एवं हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर पर क्या प्रयास किए जा रहे हैं के सम्बन्ध में जानकारी ली। निरीक्षण के दौरान उन्होंने मरीजों हेतु वितरित की जा रही दवा काउन्टर को देखा और दवाईयों की उपलब्धता के सम्बन्ध में भी जानकारी ली। निरीक्षण के दौरान पैथोलॉजी लैब में प्रतिदिन लिए गए सैंपल के संबंध में जानकारी ली गई। इसके साथ ही अस्पताल में मरीजों हेतु उपलब्ध बेड के बारे मे जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने समस्त सम्बन्धित चिकित्सकों को और अधिक से अधिक बेहतर सुविधाऐं देने के निर्देश दिये गये।

इसके साथ ही महिला चिकित्सालय का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने स्टाफ नर्स ड्यूटी रूम, आईसीयू कक्ष का निरीक्षण किया साथ ही आईसीयू में भर्ती बच्चों व उनके वजन के सम्बन्ध में जानकारी ली। इस दौरान महिला सीएमएस द्वारा अवगत कराया गया भर्ती मरीजों को बेहतर सुविधाओं प्रदान की जा रही हैं। महिला चिकित्सालय परिसर में पार्क को देखा गया और उसकी प्रशांसा की गई। निरीक्षण के दौरान उन्होंने आयुष्मान कार्ड के संबंध में जानकारी ली और अधिक से अधिक आयुष्मान कार्ड निर्गत करने के निर्देश दिए गए।

इसके उपरान्त प्रमुख सचिव द्वारा निर्माणाधीन मेडिकल कालेज का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान कॉलेज निर्माण के सम्बन्ध में मैप लेआउट के माध्यम से जानकारी ली, साथ ही उन्होंने निर्माणाधीन मेडिकल कालेज के निर्माण कार्यों को देखा। इसके साथ ही साथ उन्होंने ब्रिक की गुणवत्ता के सम्बन्ध में जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने हॉस्टल व लेक्चर हॉल (टाइप 2, टाइप 3 टाइप 4, टाइप 5, टाइप 6) आदि के सम्बन्ध में जानकारी ली। साथ ही साथ उन्होंने निर्माणाधीन कॉलेज में चल रहे कार्यों को तेजी से कराने के निर्देश दिये गये। उन्होंने सम्बन्धित संस्था को कडे़ निदेश देते हुये कहा कि निर्धारित मानकों के अनुसार समस्त कार्य करायें जाये। इस दौरान उन्होंने चेतावनी देते हेतु कहा कि मेडिकल कालेज के निर्माण की गुणवत्ता की अनदेखी की गई तो सम्बन्धित के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि मेडिकल कॉलेज में विद्युत कनेक्शन, पेयजल व्यवस्था सहित अन्य व्यवस्थाऐं व समस्त कार्य पूर्ण कराने के निर्देश दिये गये। इस दौरान उन्होंने कहा कि मेडिकल कॉलेज का कार्य समय से पूर्ण कर लिया जाये, जिससे कि सत्र 2023-24 एकेडमिक सेशन में यहां पठन पाठन शुरू कराया जाए। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार, मुख्य विकास अधिकारी धर्मेन्द्र प्रताप सिंह, उप जिलाधिकारी, प्रभारी सीएमएस पुरूष/महिला सहित अन्य अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित रहे।

रिपोर्टर-रमेश कुमार

1 view0 comments