google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

सीएम ने सदन में जल्लीकट्टू की तस्वीर दिखाकर खोली पोल, तो अखिलेश ने जोड़े हाथ


लखनऊ, 27 मई 2022 : सांड़ों के हमलों से लोगों की मौत को लेकर विपक्ष भले ही सरकार पर हमलावर रहा हो लेकिन शुक्रवार को विधानसभा में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ऐसा सुबूत पेश किया जिससे विपक्ष के आरोप की हवा निकल गई। नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव ने हाथ जोड़ कर इशारों में मुख्यमंत्री से इस मामले को ज्यादा तूल न देने का अनुरोध किया।

दरअसल, बीती 23 मई को राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के अभिभाषण के दौरान हंगामा करने वाले समाजवादी पार्टी के सदस्यों ने लोगों पर सांड़ों के हमलों की तस्वीरें लगीं तख्तियां सदन में लहराई थीं। राज्यपाल के अभिभाषण पर सरकार की ओर से लाये गए धन्यवाद प्रस्ताव पर संशोधन प्रस्ताव रखते हुए नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव ने प्रदेश में सांड़ों के हमलों से लोगों की मौत पर सरकार को घेरा था।

नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव ने मिल्कीपुर के सपा विधायक अवधेश प्रसाद की ओर से दी गई आदमी पर सांड़ के हमले की तसवीर दिखाई थी। यह भी कहा था कि सिर्फ मिल्कीपुर विधानसभा क्षेत्र में ही 15 लोगों की मौत सांड़ों के हमलों से हो चुकी है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को इसका जवाब देते हुए वही तस्वीर दिखाई और कहा कि यह तस्वीर उत्तर प्रदेश की नहीं बल्कि तमिलनाडु में जल्लीकट्टू के आयोजन की है जिसमें लोग भागते सांड़ को पकड़ने का प्रयास करते हैं। इस पर अखिलेश ने मुस्कुराते हुए हाथ जोड़कर योगी से मामले को तूल न देने का आग्रह किया।

आप पास-पास तो हैं लेकिन साथ नहीं : विधानसभा में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शिवपाल यादव की तारीफ की तो अखिलेश यादव पर तीखे तंज। मर्यादित पर व्यंग्य की चाशनी में पगे शब्दों से सीएम ने सामने बैठे चाचा भतीजे के बिगड़े रिश्तों को भी सामने रख दिया। योगी की कही बातों पर सदन में कई बार ठहाका लगा। इसमें विपक्षी सदस्य भी शामिल थे। राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा का जवाब देते हुए सीएम ने सत्ता पक्ष की ओर इशारा करते हुए अखिलेश से कहा कि हम दोनों लोग राजनीतिक यात्रा पर हैं। फर्क इतना है कि हम लोग पास-पास भी हैं और साथ-साथ भी और आप लोग पास-पास तो हैं लेकिन साथ-साथ नहीं।

4 views0 comments