google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

सीएम के साथ माध्यमिक एवं उच्च शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक में हुए महत्वपूर्ण फैसले: डा. दिनेश शर्मा



रिपोर्ट - आदेश शुक्ला


उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने रविवार को माध्यमिक एवं उच्च शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक के दौरान उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद के अधिकारियों से भी चर्चा की।

उपमुख्यमंत्री डा.दिनेश शर्मा ने स्टेट टुडे को जानकारी है कि समीक्षा बैठक में नए सेशन की शुरुआत, नए कोर्स शुरु करने, और आगामी परीक्षाओं को लेकर फार्मूला तैयार करने पर गहन चर्चा हुई। प्रदेश के डिग्री कॉलेजों से 15 अगस्त तक परीक्षाएं कराने के लिए कहा गया है।


कोरोनाकाल को ध्यान में रखते हुए कोविड गाइडलांस का पालन प्रथम प्राथमिकता होगी। परीक्षा में प्रश्नपत्र भी पूर्व की भांति ना होकर कम समय में छात्र की अधिक से अधिक प्रतिभा का मूल्यांकन करने योग्य होगें।

बैठक में यूपी बोर्ड की रद्द की गईं 10वीं और 12वीं परीक्षाओं के लिए पंजीकृत विद्यार्थियों का रिजल्ट मूल्यांकन प्रक्रिया, करेक्शन विंडो, इंप्रूवमेंट और कंपार्टमेंट परीक्षा को लेकर एवं नए सत्र की योजनाओं की भी चर्चा हुई।



त्रुटि संशोधन विकल्प


उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद के सचिव दिव्यकांत शुक्ल ने सभी जिला विद्यालय निरीक्षकों को जारी पत्र में लिखकर कहा था कि परीक्षार्थियों के विवरण में त्रुटि संशोधन के लिए 14 और 15 जून को दो दिन वेबसाइट पर ऑप्शन दिया जाएगा। इस संबंध में जिला विद्यालय निरीक्षकों की ओर से प्रधानाचार्यों को पत्र भी भेजे गए हैं। विद्यालय निरीक्षकों के द्वारा जारी विभागीय पत्र में लिखा है कि विद्यार्थियों के विवरण संशोधन के लिए 14 जून और 15 जून, 2021 को दो दिन के लिए बोर्ड की वेबसाइट पर करेक्शन विंडो का लिंक उपलब्ध होगा। प्रधानाचार्य अपने विद्यालय के परीक्षार्थियों के नाम एवं माता - पिता या अभिभावकों के नाम में आवश्यक सुधार कर सकते हैं।



त्रुटिपूर्ण नाम में सुधार की प्रक्रिया


आपको बता दें कि पिछले साल 2020 की परीक्षाओं में छात्र- छात्राओं और उनके माता-पिता के नाम पहली बार अंग्रेजी व हिंदी में भी बोर्ड की वेबसाइट पर अपलोड कराए गए थे। दोनों भाषाओं में नामों को अपलोड कराए जाने से इनमें कोई वर्तनी त्रुटि न रह जाए इसलिए वेबसाइट खोली जा रही है। संशोधन स्कूल के प्रवेश आवेदन पत्र, छात्र पंजिका आदि के आधार पर किया जा सकेगा। नामों में पूर्ण परिवर्तन नहीं हो सकता साथ ही हिंदी और अंग्रेजी में अपलोड नामों में कोई अंतर नहीं होना चाहिए।


टीम स्टेट टुडे


विज्ञापन
विज्ञापन

32 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0