google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

कांग्रेस कमेटी से पुराने निष्ठावान कार्यकर्ताओं के नाम नदारद


लखनऊ, 5 अक्टूबर 2022 : अरसे से कांग्रेसके सिपाही औरलखनऊ पश्चिम सेपार्टी के विधायकरहे श्याम किशोरशुक्ला 1980 से प्रदेशकांग्रेस कमेटी (पीसीसी) केसदस्य रहे लेकिनइस बार जबपीसीसी की नईसूची जारी हुईतो उसमें उन्हेंजगह नहीं मिली।

सिर्फ श्याम किशोरशुक्ला ही नहीं, पीसीसी के नवनिर्वाचितसदस्यों की सूचीसे पार्टी केतमाम पुराने औरनिष्ठावान कार्यकर्ताओं के नामनदारद हैं। पीसीसीके नवनिर्वाचित सदस्योंकी सूची अधिकृततौर पर तोजारी नहीं कीगई है लेकिनइंटरनेट मीडिया पर प्रसारितहो रही इसलिस्ट में कांग्रेसके कई पुरानेऔर निष्ठावान कार्यकर्ताओंके नाम नहींहैं। यह वेचेहरे हैं जोपिछली बार तकगठित रही पीसीसीके सदस्य रहचुके हैं।

कई पुरानेकार्यकर्ताओं के नामनहीं

रीता बहुगुणाजोशी, निर्मल खत्रीऔर राज बब्बरके प्रदेश कांग्रेसअध्यक्ष रहते उनकीकार्यकारिणी में उपाध्यक्षरहे बलिया केदिग्विजय सिंह इसबार पीसीसी मेंजगह पाने मेंनाकाम रहे। यहीहाल गोंडा केसत्यदेव सिंह कारहा। रीता बहुगुणाजोशी, निर्मल खत्रीऔर राज बब्बरके नेतृत्व वालीप्रदेश कार्यकारिणी में वहमहासचिव रह चुकेहैं लेकिन इसबार वह पीसीसीमें स्थान पानेके लायक नहींरहे।

द्विजेन्द्र त्रिपाठी कानाम भी पीसीसीमें नहीं

गाजीपुर की जहूराबादसीट के पूर्वविधायक और पूर्वमंत्री सुरेंद्र सिंह कीगिनती पार्टी केवरिष्ठ कार्यकर्ताओं में होतीहै लेकिन पीसीसीकी नई सूचीसे वह भीबेदखल हो गए।प्रदेश कांग्रेस के पूर्वमहासचिव और प्रदेशप्रवक्ता रहे द्विजेन्द्रत्रिपाठी का नामभी पीसीसी मेंशामिल न होनातमाम पार्टी कार्यकर्ताओंको चौंका गया।पिछली बार खलीलाबादसे पीसीसी सदस्यनिर्वाचित हुए पूर्वप्रदेश प्रवक्ता वीरेंद्र मदानका नाम नईकमेटी के सदस्योंमें शामिल नहोने पर भीकार्यकर्ताओं को अचरजहुआ है।

चुनाव लड़ने वालोंके नाम शामिल

पिछले पांच बारसे पीसीसी केसदस्य रहे कांग्रेसके प्रदेश प्रवक्ताकृष्णकांत पांडेय को इसबार जगह नहींमिल सकी। प्रदेशकांग्रेस के पिछड़ावर्ग विभाग केअध्यक्ष और पार्टीके प्रदेश महासचिवरहे चौधरी अखिलेशसिंह पिछले पांचबार से पीसीसीके सदस्य थेलेकिन इस बारवह पीसीसी के 1247 नवनिर्वाचित सदस्यों में स्थाननहीं पा सके।वहीं कांग्रेस केटिकट पर अठारहवींविधान सभा काचुनाव लड़ने वालेज्यादातर प्रत्याशी पीसीसी केनवनिर्वाचित सदस्यों में शामिलहैं। इनमें बहुतबड़ी संख्या उनलोगों की भीहै जो विधानसभा चुनाव सेठीक पहले कांग्रेसमें शामिल हुएथे।

राष्ट्रीय अध्यक्ष केचुनाव में बनेंगेमतदाता

राष्ट्रीय अध्यक्ष केचुनाव में पीसीसीके निर्वाचित सदस्यऔर कांग्रेस केजिला व शहरअध्यक्ष मतदाता की भूमिकानिभाएंगे। राष्ट्रीय अध्यक्ष केचुनाव की प्रक्रियाआगे बढ़ जानेके बावजूद पीसीसीके निर्वाचित सदसयोंकी सूची कोसार्वजनिक न कियेजाने पर पार्टीके तमाम कार्यकर्ताइसमें हेरïफेरकी आशंका जतारहे हैं। इसबाबत पूछने परप्रदेश कांग्रेस के सचिव (संगठन) अनिल यादवने कहा किपीसीसी सदस्यों की सूचीसार्वजनिक नहीं कीजाती है। यहचुनाव लड़ने वालेप्रत्याशियों को दीजाती है ताकिवे इसके माध्यमसे मतदाताओं सेसंपर्क कर सकें।उन्होंने कहा किपीसीसी सदस्यों की सूचीअध्यक्ष पद केप्रत्याशियों को दीजा चुकी है।

0 views0 comments

Comments


bottom of page