google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

लखनऊ आ रहीं प्रियंका गांधी, यूपी चुनाव में उतरेगी टीम भूपेश बघेल,प्रमोद तिवारी का योगी सरकार पर हमला



उत्तर प्रदेश विधानसभा का चुनाव बेहद दिलचस्प होने जा रहा है। 2017 के विधानसभा चुनाव में प्रियंका गांधी ने ना सिर्फ सक्रिय राजनीति में उत्तर प्रदेश से शुरुआत की थी बल्कि तब जो सिलसिला बनाया अब उसे रफ्तार मिलने जा रही है।


2017 के यूपी विधानसभा चुनाव में प्रियंका को तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्रीय महासचिव नियुक्त कर पूर्वी उत्तर प्रदेश की कमान सौंपी थी। इससे पहले प्रियंका ने खुद को रायबरेली और अमेठी तक सीमित रखा था।


अब दौर बदल रहा है। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कार्यालय से लेकर कार्यकर्ताओं और नेताओं की तेजी आजकल देखने लायक है।


यूपी के दौरे पर प्रियंका लखनऊ में


कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी मिशन उत्तर प्रदेश पर 14 जुलाई से लखनऊ में डेरा डालने वाली हैं।

इस दौरान वो चुनावी तैयारियों का जायजा लेंगी।


प्रियंका गांधी सभी जिला और शहर अध्यक्षों के साथ साथ सभी प्रदेश समितियों के संग बैठक करेंगी। वो विभिन्न किसान संघों से भी मुलाकात करेंगी।


प्रियंका बेरोजगार युवाओं के समूहों के साथ भी बातचीत करेंगी जो विभिन्न भर्ती के मुद्दों से लड़ रहे हैं। प्रियंका गांधी राज्य के कांग्रेस नेताओं के साथ अगले विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी का घोषणापत्र बनाने पर भी चर्चा करेंगी।


यूपी कांग्रेस सलाहकार परिषद के साथ प्रियंका की बैठक


प्रियंका ने यूपी कांग्रेस सलाहकार परिषद व रणनीतिक ग्रुप के साथ वर्च्युअल बैठक में महंगाई, कोरोना, पंचायत चुनाव, संगठन प्रशिक्षण शिविरों पर चर्चा करते हुए कहा बढ़ती महंगाई से जनता परेशान है। पेट्रोल,डीजल, सरसों तेल, फल.सब्जियों के दाम आसमान छू रहे हैं। सरकार हाथ पर हाथ रखकर बैठी हुई है। जनता को राहत देने के बजाय वह हिंसा क्रूरता का सहारा लेकर प्रदेश वासियों को भटकने के लिये छोड़ रखा है।

हिंसा, हत्या, अपराध,महिलाओ पर अत्याचार, बेरोजगारों युवाओं के साथ छल उसकी पहचान बन चुकी है। यहां व्यवस्था नाम की कोई चीज नही है। छुट्टा जानवर से किसान बेहाल, किसानों की लागत दुगनी हो गयी उसकी आय लगातार घटती जा रही है, लेकिन सरकार लगातार आमजन को झूठ बोलकर भ्रमित कर रही है।



बैठक में महंगाई, कोरोना, पंचायत चुनाव, संगठन प्रशिक्षण शिविरों पर चर्चा की
बढ़ती महंगाई से जनता परेशान -प्रियंका गांधी वाड्रा
छुट्टा जानवर से किसान बेहाल, किसानों की लागत हुई दुगनी, लेकिन आय घट गई- प्रियंका गांधी वाड्रा
पंचायत चुनावों में खुलेआम हिंसा हुई भाजपा कार्यकर्ताओं ने हिंसा बम, पत्थर, और गोलियां चलाईं- प्रियंका गांधी वाड्रा


प्रियंका ने उत्तर प्रदेश के पंचायत चुनावों में सत्ता प्रयोजित हिंसा खुलेआम हुई सत्ताधारी दल भाजपा कार्यकर्ताओं ने बम,गोली पत्थर, और गोलियां चलाईं,विपक्षी उम्मीदवारों के पर्चे फाड़े गए, महिला उम्मीदवारों व महिला प्रस्तावको के साथ सड़क पर प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में जिस तरह उनके सम्मान को कुचलने और उनके चीरहरण का प्रयास किया गया, उसने भाजपा के दोहरे चरित्र को उजागर कर दिया है।


बैठक में उप्र कांग्रेस सलाहकार परिषद एवं रणनीतिक ग्रुप के सदस्यों ने कहा कि उप्र सरकार हर मुद्दे पर विफल है। महंगाई, बेरोजगारी एवं जंगलराज के खिलाफ यूपी कांग्रेस सड़कों पर और मजबूती से उतरेगी, उसको जिम्मेदारी का एहसास कराकर उसे भागने नही देगी।


कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश चुनाव प्रचार और प्रबंधन के मोर्चे पर छत्तीसगढ़ की टीम को उतारने का फैसला किया है। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी से मुलाकात के दौरान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की रणनीति पर चर्चा की। प्रियंका ने उन्हें टीम के साथ चुनाव के मोर्चे पर उतरने के निर्देश दिए। कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव और मुख्यमंत्री के सलाहकार राजेश तिवारी को पहले ही उत्तर प्रदेश का प्रभारी सचिव बनाया गया है। वह बूथ स्तर पर मैनेजमेंट में जुटे हैं। इससे पहले छत्तीसगढ़ के नेताओं को उत्तर प्रदेश के पंचायत चुनाव में उतारा गया था। अब पूर्वाचल में फिर छत्तीसगढ़ के नेताओं को सक्रिय किया जाएगा।


यूपी में उतरेगी टीम भूपेश बघेल


इस बीच ये भी जानकारी मिली है कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल यूपी चुनाव के लिए पार्टी पदाधिकारी और कार्यकर्ता चुनाव प्रबंधन की जिम्मेदारी लेने को कहा गया है।


भूपेश बघेल की प्रियंका गांधी से मुलाकात के दौरान कांग्रेस के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष पवन बंसल और राजीव शुक्ला भी मौजूद थे। करीब एक घंटे चली मुलाकात में मुख्यमंत्री ने प्रदेश के राजनीतिक हालात पर भी चर्चा की।


बताया जा रहा है कि छत्तीसगढ़ के नेताओं को पूर्वाचल की विधानसभा सीट की जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है। उत्तर प्रदेश से छत्तीसगढ़ का बार्डर भी इसी इलाके में लगता है। प्रदेश में पूर्वाचल के लोगों की संख्या भी ज्यादा है। ऐसे में इस इलाके में चुनाव प्रचार प्रभावी रहेगा।


प्रमोद तिवारी ने उठाए कांग्रेस के पांच सवाल


अखिल भारतीय कांग्रेस की केंद्रीय वर्किंग कमेटी के सदस्य प्रमोद तिवारी ने योगी सरकार पर हमला बोला। हर दिन योगी सरकार से पांच सवाल पूछने के अभियान को आगे बढ़ाते हुए प्रमोद तिवारी ने आरोप आरोप लगाया कि भाजपा के संकल्प पत्र में किये गए वादों को पूरा करने के बजाय उन मुद्दों की ओर जनता का ध्यान भटकाना चाहती है जो भाजपा के डीएनए में हैं। तिवारी ने सरकार से जानना चाहा कि स्वरोजगार के लिए संकल्प पत्र में 1000 करोड़ रुपये के स्टार्ट अप वेंचर कैपिटल फंड की स्थापना की जो घोषणा हुई थी, वह क्यों नहीं पूरी हुई?

यह भी पूछा कि हर खेत में पानी पहुंचाने के संकल्प पत्र के वादे पर अमल क्यों न हो सका?


सामान्य वर्ग के गरीबों की आर्थिक प्रगति के लिए सामान्य वर्ग निर्धन वर्ग आयोग के गठन का भाजपा का चुनावी वादा भी कोरा साबित हुआ है।


संकल्प पत्र में हर गांव में आधुनिक सुविधाओं से परिपूर्ण उप-स्वास्थ्य केंद्रों की स्थापना का वादा भी छलावा रह गया।


सभी गरीब घरों को पहली 100 यूनिट बिजली रियायती दर पर देेने का वादा भी पूरा नहीं हुआ है।


</