google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

कोरोना को लेकर सीएम गंभीर, NCR के साथ लखनऊ में भी टेस्टिंग बढ़ाने के निर्देश


लखनऊ, 26 अप्रैल 2022 : वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण के एक बार फिर से बढ़ते केस को लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बेहद गंभीर हैं। कोरोना वायरस संक्रमण के तीन चरण में प्रभावी कार्रवाई को लेकर बेहद चर्चा में रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस बार भी हाई अलर्ट पर हैं।

मुख्यमंत्री ने टीम-09 के साथ उच्च स्तरीय बैठक में निर्देश दिया कि एनसीआर में कोविड के नए केस में बढ़ोतरी को देखते हुए एनसीआर के उत्तर प्रदेश के जिलों के साथ ही लखनऊ में भी कोरोना वायरस टेस्टिंग की गति को और बढाया जाए। बीते 24 घंटे में गौतमबुद्ध नगर में 126 और गाजियाबाद में 30 नए केस मिलने के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि अब जरूरी है कि टेस्टिंग को और बढ़ाया जाए। अब हर दिन न्यूनतम डेढ़ लाख टेस्ट कराएं। उन्होंने कहा कि कोविड पाजिटिव मिल रहे लोगों से सतत संवाद-संपर्क बनाते हुए उनके उपचार की सभी जरूरी व्यवस्था कराई जाए। ज्यादातर लोगों को होम आइसोलेशन की ही आवश्यकता पड़ रही है, उन्हें कोविड आइसोलेशन प्रोटोकॉल की पूरी जानकारी दी जाए।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने इसके साथ ही निर्देश दिया कि एनसीआर के उत्तर प्रदेश के जिलों के साथ लखनऊ में वहां फेस मास्क की अनिवार्यता को प्रभावी बनाया जाए। सभी लोगों को कोविड प्रोटोकाल का अनुपालन के लिए जागरूक किया जाए। पब्लिक एड्रेस सिस्टम का प्रभावी ढंग से इस्तेमाल किया जाए। कोरोना वायरस संक्रमण के प्रदेश में वर्तमान में कुल एक्टिव केस की संख्या 1316 है। बीते 24 घंटों में 91,673 कोरोना टेस्ट किए गए, जिसमें 203 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं। इसी दौरान 162 लोग उपचारित होकर कोरोना मुक्त भी हुए।

कोविड टीकाकरण : सीएम योगी आदित्यनाथ ने बताया कि प्रदेश में 31 करोड़ 17 लाख से अधिक कोविड टीकाकरण के साथ ही 18 वर्ष से अधिक आयु की पूरी आबादी को टीके की कम से कम एक डोज लग चुकी है, जबकि 87.67 प्रतिशत से अधिक वयस्क लोगों को दोनों खुराक मिल चुकी है। 15 से 17 आयु वर्ग में 94.74 प्रतिशत किशोरों को पहली खुराक मिल चुकी है और 64.33 प्रतिशत से किशोरों को दोनों डोज लग चुकी है। बच्चों के टीकाकरण को और तेज करने की आवश्यकता है। 12 से 14 आयु वर्ग के बच्चों को पहली डोज के बाद अब पात्रता के अनुसार दूसरी डोज भी दी जाए। 18 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को बूस्टर डोज लगाए जाने में तेजी की अपेक्षा है।

संचारी रोगों के उन्मूलन में भी सफल : सीएम योगी आदित्नाथ ने कहा कि नियोजित प्रयासों से इंसेफेलाइटिस पर प्रभावी नियंत्रण स्थापित करने के बाद संचारी रोगों के उन्मूलन में उत्तर प्रदेश ने एक और बड़ी सफलता प्राप्त की है। हाल के परिणाम बताते हैं कि प्रदेश में मलेरिया और कालाजार रोग समाप्ति की ओर है। प्रति हजार की जनसंख्या पर एक से भी कम लोगों में मलेरिया की समस्या देखी गई, जबकि कालाजार रोग 22 चिन्हित ब्लॉक में हर दस हजार की आबादी में एक से कम लोगों में ही देखा गया है। यह बड़ी उपलब्धि है। टीम यूपी को बधाई। बहुत जल्द हमारा प्रदेश कालाजार मुक्त हो जाएगा और मलेरिया पर प्रभावी नियंत्रण भी हो जाएगा।

7 views0 comments