google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

धनतेरस पर बसपा प्रमुख मायावती बोलीं-कीमती तोहफे नहीं, चुनावी खर्चों के लिए सीधे दें पैसे


लखनऊ, 22 अक्टूबर 2022 : बहुजन समाज पार्टीकी राष्ट्रीय अध्यक्षमायावती ने शनिवारको लखनऊ मेंपार्टी के उत्तरप्रदेश के पदाधिकारियोंके साथ बैठककी।

लखनऊ मेंबसपा के प्रदेशमुख्यालय में मायावतीने निकाय चुनावतैयारियों व सदस्यताअभियान की समीक्षाके साथ हीसभी को स्पष्टनिर्देश भी दिया।मायावती ने उनकेजन्मदिन यानी जनकल्याणकारीदिवस पर उपहारके स्थान परपार्टी चलाने के लिएआर्थिक सहयोग देने कानिर्देश भी जारीकिया है।

बसपा कोआर्थिक मदद कीजरूरत

बहुजन समाज पार्टीकी अध्यक्ष मायावतीने लखनऊ मेंपार्टी के प्रदेशके पदाधिकारियों केसमक्ष स्पष्ट करदिया कि आनेवाले चुनाव केलिए बसपा कोआर्थिक मदद कीजरूरत है। पार्टीके प्रदेश मुख्यालयमें जिले सेलेकर प्रदेश पदाधिकारियोंकी बैठक मेंबड़ी संख्या मेंनेता तथा कार्यकर्तापधारे थे। इसदौरान सभी नेउनके निर्देश कोभली भांति सुना।

जन्मदिन जनकल्याणकारी दिवस

बसपा मुखियामायावती ने स्पष्टतौर पर कहाकि 15 जनवरी कोउनके जन्मदिन कोजनकल्याणकारी दिवस केरूप में मनायाजाता है। उन्होंनेइस अवसर परगरीबों की मददकरने का निर्देशदेने के साथही कहा किइस शुभ अवसरपर उनको महंगेतोहफे या उपहारदेने पर पाबंदीजारी रहेगी। इसदौरान पार्टी तथामूवमेंट को ध्यानमें रखते हुएहमेशा की तरहही सीधा तौरपर आर्थिक सहयोगदेता बेहतर होगा, ताकि इससे चुनावमें खर्च आदिकी भरपाई कीजा सके। बसपा केसदस्यता अभियान में पार्टीको अपेक्षित सफलतानहीं मिली है।आज की बैठकमें सदस्यता अभियानको लेकर मायावतीने खुशी नहींजाहिर की। अभियानको लक्ष्य केमुताबिक सफलता नहीं मिलीहै। सदस्यता केलिए पार्टी ने 200 रुपये सदस्यता शुल्क भीरखा है।

लखनऊ मेंआज धनतेरस परप्रदेश के करीबहजार पदाधिकारी मायावतीके साथ बैठकमें थे। पार्टीप्रमुख ने इसबैठक में समीक्षाकी, पार्टी निकायचुनाव में बसपाकहां मजबूत है।इसके साथ पार्टीकिस तरीके सेऔर आगे कीरणनीति के साथनिकाय चुनाव मेंउतर सकती है।

माना जारहा है किलोकसभा चुनाव 2024 से पहलेहोने जा रहेनगरीय निकाय चुनावमें पार्टी अबकीपूरे दमखम केसाथ उतरेगी। विधानसभाचुनाव 2022 मे बेहदनिराशाजनक प्रदर्शन के बादमायावती की कोशिशहै कि निकायचुनाव में बेहतरनतीजे आएं ताकिबसपा के पक्षमें माहौल बने।पदाधिकारियों को दलितोंके साथ हीखासतौर से मुस्लिममतदाताओं में पैठबनाने के बारेमें बताएंगी। शाहआलम उर्फ गुड्डूजमाली और इमरानमसूद के पार्टीके साथ आनेके बाद बसपाप्रमुख की कोशिशहै कि मुस्लिमसमाज को समझायाजाए कि सपानहीं बल्कि बसपाही भाजपा सेमुकाबला कर सकतीहै।

माल एवेन्यूमें पार्टी केप्रदेश कार्यालय में मायावतीनगरीय निकाय चुनावकी तैयारियों औरसदस्यता अभियान की समीक्षाकी। इस बीचउन्होंने पार्टी संगठन मेंफेरबदल भी कियाहै। लखनऊ मंडलको तीन हिस्सेमें बांटते हुएकई पदाधिकारियों कोनए सिरे सेदायित्व सौंपा है। बसपामुखिया मायावती ने करीबतीन माह बादशनिवार को पार्टीके जिले सेलेकर प्रदेश पदाधिकारियोंके साथ बैठककी।

27 views0 comments
bottom of page