google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

पहले भर्तियों में होता था भाई-भतीजावाद, अब होता है प्रतिभा का सम्मान


लखनऊ, 22 अप्रैल 2023 : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पहले प्रदेश की भर्तियों में भाई-भतीजावाद व जातिवाद होता था आज बिना भेदभाव के पारदर्शी तरीके से चयन हो रहा है। आज नौकरियों में प्रतिभा को सम्मान मिल रहा है। पहले उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग, अधीनस्थ सेवा चयन आयोग, उच्चतर शिक्षा चयन आयोग और माध्यमिक शिक्षा चयन आयोग से जुड़ी परीक्षाओं में शिकायतों का अंबार लगा हुआ था।

कई भर्ती प्रक्रियाओं में न्यायालय से स्टे मिला हुआ था। कुछ मामलों में कोर्ट ने गंभीर टिप्पणियां भी कर रखी थीं। यूपी पुलिस में डेढ़ लाख पद खाली पड़े थे। यह सारा खेल सामाजिक न्याय का मुखौटा लगाकर किया जाता था। हमने भर्ती प्रक्रिया को पारदर्शी बनाया। इसमें भेदभाव के लिए कोई जगह नहीं है।

मुख्यमंत्री ने शनिवार को पुलिस मुख्यालय में आयोजित राज्य लोक सेवा आयोग के अध्यक्षों के 24वें राष्ट्रीय सम्मेलन के उद्धाटन अवसर पर कहा कि इस कार्यक्रम में शामिल होना मेरे लिए इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि उत्तर प्रदेश के प्रशासन ने छह वर्षों के अंदर जो कुछ भी किया है उसे आप सभी के माध्यम से देश के कोने-कोने तक पहुंचाना है।

उन्होंने कहा कि एक आदर्श समाज में संघ लोक सेवा आयोग हो या राज्यों के लोक सेवा आयोग, सभी की बड़ी भूमिका होती है। पिछले छह वर्षों में सरकार ने साढ़े पांच लाख नियुक्तियां की हैं। किसी भी नियुक्ति पर प्रश्नचिह्न नहीं खड़ा हुआ है। उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश की आबादी 25 करोड़ है, ऐसे में साढ़े पांच लाख सरकारी नौकरी से काम नहीं चलेगा।

प्रदेश के कई युवा ऐसे हैं जो सरकारी नौकरी में नहीं जाना चाहते हैं, वह अपने सेक्टर में कुछ नया करना चाहते हैं। इस पर सरकार काम कर रही है। सरकार ने एक जिला एक उत्पाद योजना लागू की, इसके अच्छे परिणाम मिले हैं। प्रदेश में वर्ष 2017 में जहां कुल निर्यात 86 हजार करोड़ था, वह आज लगभग दो लाख करोड़ रुपये तक पहुंच गया है।

प्रदेश में बेहतर कानून व्यवस्था से काफी निवेश आया है। ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट से 35 लाख करोड़ के निवेश प्रस्ताव आए हैं। जल्द ही 10 लाख करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव को जमीन पर उतारने के लिए ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी की जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के समय जो श्रमिक आए उन्हें प्रदेश में रोजगार दिया। प्रदेश में लाकडाउन के दौरान भी उद्योग धंधे चलते रहे। उसी का परिणाम है कि प्रदेश में बड़े पैमाने पर रोजगार का सृजन हुआ। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश की कानून व्यवस्था पूरे देश के लिए नजीर बनी है। आज प्रदेश में कोई दंगा नहीं होता है। आज ईद है पर कहीं पर भी ईद की नमाज सड़कों पर नहीं पढ़ी गई। सभी जगह ईदगाह में ही नमाज पढ़ी गई।

कानून का राज सबके लिए समान है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में आशाओं की भरमार है। आज हर व्यक्ति के मन में इसको लेकर एक विश्वास पैदा हुआ है। इस मौके पर संघ लोक सेवा आयोग के वरिष्ठ सदस्य राजीव नयन चौबे, लेफ्टिनेंट जनरल राज शुक्ला, स्टैंडिंग कमेटी आफ नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष जार्ज, उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष संजय श्रीनेत, मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र आदि शामिल थे।

1 view0 comments

Comentarios


bottom of page