google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

केंद्रीय मंत्री कौशल किशोर के बेटे के खिलाफ एफआईआर


लखनऊ, 2 सितंबर 2023 : विनय हत्याकांड मामले में शनिवार को पुलिस ने केंद्रीय मंत्री कौशल किशोर के बेटे विकास किशोर के खिलाफ आर्म्स एक्ट में मुकदमा दर्ज कर लिया है। डीसीपी पश्चिम राहुल राज ने बताया कि हत्या में इस्तेमाल हुई पिस्टल का लाइसेंस विकास किशोर के नाम है। ऐसे में पिस्टल को लापरवाही पूर्वक घर पर छोड़ जाने से घटना को अंजाम दिया गया है। डीसीपी ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर लाइसेंस निरस्त करने के लिए भेज दिया गया है। मामले की जांच आगे की कार्रवाई की जाएगी।

पुल‍िस ने मौके से ये क‍िया बरामद

पुलिस ने मौके से एक पिस्टल 32 बोर, सीसी फुटेज का डीबीआर, एक खोखा कारतूस, ताश के 52 पत्ते और दो हजार रुपये बरामद किए हैं।

अंकित को पता था, कहां रखी है विकास की पिस्टल

अंकित को यह पता था कि विकास किशोर पिस्टल तकिया के नीचे छुपाकर गए हैं। क्योंकि जब विनय से झगड़ा हुआ तो अंकित ने भागकर बेड के नीचे से सबसे पहले पिस्टल निकाल ली। इसका मतलब जब विकास किशोर बाहर जाता था तो अंकित को पता रहता था कि उसकी पिस्टल कहां रखी है? अगर विकास ने यह लापरवाही न बरती होती तो हत्या न होती।

कब और क्यों की गई हत्या?

केंद्रीय राज्यमंत्री कौशल किशोर के दुबग्गा स्थित आवास पर गुरुवार (31 अगस्त) रात उनके करीबी विनय श्रीवास्तव की पार्टी के दौरान गोली मारकर हत्या कर दी गई। विनय की घड़ी छत पर और शव कमरे के बाहर जीने के पास मिला।

कपड़े फटे थे और गले में खरोच के निशान थे। पुलिस का कहना है कि शराब के नशे में जुआं खेलने के दौरान हुए विवाद में विनय को गोली मार दी गई। हत्या में इस्तेमाल की गई लाइसेंसी पिस्टल कौशल किशोर के बेटे विकास किशोर की थी जो वहीं बेड पर तकिया के नीचे रखी थी।

विनय की हत्या के समय केंद्रीय राज्य मंत्री थोड़ी ही दूर स्थित अपने दूसरे आवास पर थे, जबकि उनका बेटा विकास किशोर गुरुवार शाम दिल्ली चला गया था। सवाल यह है कि जब विकास किशोर दिल्ली गया तो उसने अपनी पिस्टल घर पर खुली क्यों छोड़ी जिससे हत्या की गई?

क्या किसी साजिश के तहत दिल्ली जाने के बाद पिस्टल तकिया के नीचे रखी गई? क्या हत्याकांड की यही वजह है जो पुलिस ने बताई है या फिर इसके पीछे कोई और कहानी है? यह सवाल इसलिए भी उठ रहे हैं क्योंकि मृतक विनय कम समय में ही कौशल किशोर के करीब पहुंच गया था जिससे कई लोगों को खटक रहा था।

हत्याकांड के समय मृतक विनय के अलावा तीन लोग थे। पुलिस ने विनय के भाई विकास श्रीवास्तव की तहरीर पर अंकित वर्मा, अजय रावत, शमीम बाबा के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है। इसके अलावा विकास किशोर का शस्त्र लाइसेंस भी निरस्त किया जाएगा। पुलिस भले ही जुएं में विवाद को हत्या की वजह मान रही है लेकिन विनय के भाई विकास श्रीवास्तव ने विकास किशोर पर हत्या की साजिश का आरोप लगाया है। विकास श्रीवास्तव का कहना है कि अगर विकास किशोर दिल्ली में है तो उनकी पिस्टल वहां कैसे थी?

रात एक बजे चारबाग से मंगवाया गया चिकन और शराब

पुलिस की तफ्तीश में पता चला है कि रात घटना के पहले अरुण प्रताप, शमीम, सौरभ रावत, अजय रावत और अंकित वर्मा पहले बाहर से शराब पीकर केंद्रीय राज्यमंत्री के घर पहुंचे थे। इसके बाद सौरभ रावत और अजय रावत चारबाग गए थे। चारबाग में चिकन और फिर शराब खरीदी गई थी। दोनों लेकर पहुंचे। सबने चिकन खाया, शराब पी। इसके बाद जुआ खेलने लगे थे।


0 views0 comments

Comentarios


bottom of page