google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

कोहरे ने रफ्तार पर लगाया ब्रेक, कई ट्रेनें फरवरी तक रद्द-हवाई सेवाओं पर भी असर


लखनऊ, 21 दिसम्बर, 2022 : कोहरे ने ट्रेनों की रफ्तार रोक दी है। ठंड के मौसम में ट्रेनों के लेट आवागमन से रेल यात्रियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं विमान सेवाओं पर भी कोहरे व ठंड का असर पड़ा है। निर्धारित समय को ध्यान में रखते हुए यात्री स्टेशन पर पहुंच रहे और ट्रेन लेट आ रही तो लोगों को ठंड में ठिठुरना पड़ रहा है। मंगलवार को कोहरे के कारण वाराणसी से गुजरने वाली एक दर्जन से ज्यादा गाड़ियां घंटों देर से चलीं। चंडीगढ़-पाटलिपुत्र सुपरफास्ट एक्सप्रेस सर्वाधिक 13 घंटे देर से पहुंची। वंदे भारत एक्सप्रेस के पहिए भी थम गए। यह ट्रेन तीन घंटे विलंब से आई। ऐसे में इस ट्रेन को शाम छह बजे रवाना किया गया। इसी प्रकार बनारस स्टेशन (मंडुआडीह) पर नई दिल्ली-बनारस सुपरफास्ट एक्सप्रेस साढ़े आठ घंटे और शिवगंगा एक्सप्रेस साढ़े सात घंटे देर से पहुंची। यह दोनों गाड़ियां विलंब से नई दिल्ली रवाना हुई। ट्रेनों के देर से चलने के कारण यात्रियों को ठंड में मुश्किल का सामना करना पड़ रहा है।

यह गाड़ियां हैं निरस्त

रेलवे प्रशासन ने आठ जोड़ी गाड़ियों को अस्थायी रूप से निरस्त कर दिया है। अप वाराणसी-बहराइच एक्सप्रेस, डाउन लिच्छवी एक्सप्रेस, अप जनता एक्सप्रेस, अप बरेली एक्सप्रेस 28 फरवरी तक निरस्त रहेंगी। डाउन बहराइच-वाराणसी एक्सप्रेस, अप लिच्छवी, डाउन जनता, डाउन बरेली एक्सप्रेस दो मार्च तक नहीं चलेगी। बनारस-मुजफ्फरपुर एक्सप्रेस के फेरों में कटौती की गई है। यह 27 फरवरी तक हर सोमवार‑बुधवार को दोनों तरफ से रद रहेगी। वाराणसी-सिंगरौली-शक्तिनगर एक्सप्रेस को दो फरवरी तक निरस्त रखा जाएगा।

फेरों में की गई कटौती

अप स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस एवं अप दानापुर-आनंद विहार एक्सप्रेस 23 फरवरी तक प्रत्येक गुरुवार नहीं चलेगी। डाउन स्वतंत्रता सेनानी व डाउन आनंद विहार-दानापुर 24 फरवरी तक प्रत्येक शुक्रवार को निरस्त रहेगी।

कई विमान निरस्त और विलंबित

मंगलवार सुबह दृश्यता करीब 50 मीटर रही और दोपहर एक बजे के बाद दृश्यता 900 मीटर तक पहुंचने पर स्थिति सामान्य हुई। इसके चलते लाल बहादुर शास्त्री हवाई अड्डे पर विमान समय से नहीं उतर सके। इससे विमान अपने गंतव्य के लिए भी समय से उड़ान नहीं भर सके, इसके चलते यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। हैदराबाद, दिल्ली, मुंबई सहित अन्य शहरों से वाराणसी आने वाले विमान अपने निर्धारित समय से दो से तीन घंटे विलंब से पहुंचे तो हैदराबाद, भुवनेश्वर, मुंबई, दिल्ली, बंगलूरू के लिए कुल छह विमान निरस्त रहे। इंडिगो एयरलाइंस का विमान 6ई 915 हैदराबाद से उड़ान भरकर वाराणसी हवाई अड्डे पर सुबह 11.25 बजे पहुंचता है लेकिन दृश्यता कम होने से दोपहर 1.26 बजे पहुंचा। एयर इंडिया का विमान ए आई 406 सुबह 11.45 बजे पहुंचता है लेकिन 2. 42 बजे पहुंचा। गो एयरवेज का विमान जी 8 184 दिल्ली से उड़ान भरकर हवाई अड्डे पर 12 बजे पहुंचता है लेकिन 2.37 बजे पहुंचा। इंडिगो का विमान 6ई 6361 दिल्ली से उड़ान भरकर हवाई अड्डे पर दोपहर 12 बजे पहुंचना था लेकिन 2.05 बजे पहुंचा। एयर इंडिया का विमान एआइ 695 मुंबई से उड़ान भरकर दोपहर 12.40 बजे पहुंचना था लेकिन 2.52 बजे पहुंचा। गो एयरवेज का विमान जी8 8349 मुंबई से उड़ान भरकर 1.20 बजे वाराणसी हवाई अड्डे पर पहुंचना था लेकिन शाम पांच बजे पहुंचा।

मुंबई से वाराणसी पहुंचा विमान दिल्ली को डायवर्ट

मुंबई से 143 यात्रियों को लेकर रात 9.20 बजे वाराणसी एयरपोर्ट पर पहुंचा स्पाइस जेट विमान एसजी-201 दृश्यता कम होने के चलते डायवर्ट होकर दिल्ली भेजा गया। फिर यही विमान एसजी 202 बनकर मुंबई जाता है। विमान से मुंबई जाने वाले 156 यात्रियों को अगले दिन का टिकट दिया गया। वही, कुछ यात्रियों ने अपनी यात्रा रद कर पूरा पैसा वापस ले लिया।

अभी और छाएगा कोहरा, बढ़ेगी ठंड

मौसम में अब तेजी से बदलाव हो रहा है। आसमान में घना कोहरा छाने लगा है। बुधवार की सुबह तो कोहरा इतना हो गया कि 50 मीटर की दूरी तक ही दिखाई दे रहा था। अभी और कोहरा बढ़ने की संभावना है। वहीं ठंड भी बढ़ गई है। कोहरे के चलते जहां सड़कों पर वाहन रेंगते नजर आए तो वहीं दूसरी ओर स्कूल जाने वाले नन्हे बच्चों को ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ा। इस दौरान बच्चे ठिठुरते नजर आए। मौसम विज्ञानियों के अनुसार आने वाले दिनों में और घना कोहरा बढ़ेगा।


12 views0 comments

Comments


bottom of page