google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

गांधी जयंती पर बोले सीएम योगी-देश की आजादी के लिए बापू ने छोड़ दी थी वकालत


लखनऊ, 2 अक्टूबर 2022 : राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 153वां जयंती पर विश्वउनको नमन कररहा है। लखनऊमें भी इसअवसर पर कईकार्यक्रम का आयोजनकिया गया। मुख्यमंत्रीयोगी आदित्यनाथ नेजीपीओ पार्क मेंरविवार को महात्मागांधी की प्रतिमापर माल्यापर्ण करनेके बाद रामधुनको सुना। इसकेबाद हजरतगंज मेंगांधी आश्रम मेंचरखा चलाकर परसूत काता औरवहां मौजूद सभीको संबोधित भीकिया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथने श्री गांधीआश्रम में बापूको श्रद्वांजलि भीअर्पित की। मुख्यमंत्रीने गांधी आश्रममें खरीदारी भीकी और जनप्रतिनिधियोंसे अपील कीकि गांधी आश्रमसे खरीदारी करे।

बापू कात्याग देश कीआजादी का आधारबना

गांधी आश्रम मेंमुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथने कहा किदेश को सैकड़ोंवर्षों की गुलामीसे मुक्त करानेके लिए बापूदक्षिण अफ्रीका में अपनीवकालत की प्रैक्टिसछोड़कर भारत आगए थे। वहभारत की उससमय की सभीपरिस्थिति से वहअच्छी तरह वाकिफभी थे। उन्होंनेहमें कुछ मंत्रभी दिए थे।जिनमें स्वदेशी, स्वच्छता, ग्रामस्वराज था जोभारत की आजादीका आधार बना।

देश कीआजादी के अभियानको मिली गति

मुख्यमंत्री ने कहाकि महात्मा गांधीने भारत कीआजादी के साथ, स्वदेशी ने आजादीकी लड़ाई कोएक नई गतिदेने का कामकिया। उस समयदेश के अंदरउत्तर से दक्षिण, पूरब से पश्चिमतक सभी नेआजादी की इसलड़ाई के साथजुड़कर बापू केनेतृत्व में इसकोनई ऊंचाइयों तकपहुंचाने के संकल्पके साथ आगेबढ़ाया। जिस भारतके बारे मेंकहा जाता थाकि ब्रिटिश काशासन कभी अस्तनहीं होगा, उसभारत के अंदर, बापू के स्वदेशीऔर स्वालंबन केनारे ने कभीन अस्त होनेवाले ब्रिटिश शासनको अस्तांचल कीओर पहुंचा दिया।

बापू कीप्रेरणा से मिलताहै मार्गदर्शन

मुख्यमंत्री ने कहाकि आज भीआजाद भारत मेंबापू की प्रेरणाहम सबको एकनया मार्ग दर्शनदेती है। उन्होंनेकहा कि यादकरिए जब प्रधानमंत्रीनरेंद्र मोदी नेवर्ष 2014 में देशकी सत्ता जबअपने हाथों मेंली थी, तोइस देश नेउनके नेतृत्व परविश्वास किया था।पहला जो अभियानप्रधानमंत्री ने चलायाथा, वह ग्रामस्वालंबन का था, और इसके लिएजन धन खातेके अंतर्गत हरएक व्यक्ति कोजोड़ा गया था।नारी गरिमा कीरक्षा का माध्यमबना है। कोरोनाके समय पीएमने आत्मनिर्भर भारतका मंत्र दियाथा, जो लोकलहै, उसके लिएहम वोकल बने।

पीएम मोदीके ओडीओपी सेपूरा हो रहाबापू का सपना

मुख्यमंत्री ने कहाकि केन्द्र तथाराज्य सरकारें देशके विकास काकाम कर रहीहैं। उत्तर प्रदेशसरकार ने भीपीएम मोदी केनेतृत्व में एकजनपद एक उत्पाद (ODOP) की योजना प्रारंभ की।एक जनपद, एकउत्पाद, यह आत्मनिर्भताके लक्ष्य कोप्राप्त करने काअभियान है। उन्होंनकहा कि हमस्वदेशी का मूलमंत्र नहीं छोड़ेंगे, प्रतिस्पर्धा और जरूरतपड़नेपर उसके कलेवरको बदलकर वैश्विकप्रतिस्पर्धा में अपनेउत्पाद को खड़ाकरेंगे।

पांच वर्षमें ओडीओपी कोबड़ा प्रोत्साहन

सीएम योगीआदित्यनाथ ने बतायाकि पिछले पांचवर्षों में हमनेइन्हीं उत्पाद को प्रोत्साहितकिया। इसके कारणइसका निर्यात भीबढ़ा। निर्यात जोपहले 86 से 88 हजार करोड़था, वह बढ़कर 1.56 हजार करोड़ हो गया।हमने इन उत्पादोंको एक्सपोर्ट करलाखों लोगों कोआत्म निर्भर बनाया।इसके साथ गांवके काफी हस्तशिल्पकारीगरों को विश्वकर्माश्रम सम्मान केमाध्यम से प्रोत्साहितकरने का कामकिया जा रहाहै। हमने तोगांव में सोलरव इलेक्ट्रिक चरखेबांटे। इसके बादजब गांव केलोगों से पूछाकि आखिर कितनीकमाई कर पारहे हैं, इसपर बताया किआठ सौ सेपंद्रह सौ रुपयेप्रतिदिन कमा रहेहैं।

खादी खरीबमें तीन माहके लिए विशेषछूट

मुख्यमंत्री ने खादीउत्पादों पर विशेषछूट देने कीघोषणा की। दोअक्टूबर के विशेषअवसर पर मुख्यमंत्रीने कहा किप्रदेश शासन वकेंद्र ने तीनमाह के लिएविशेष छूट देनेका घोषणा कीहै। यह व्यवस्थाप्रारंभिक चरण मेंहै, आवश्यकता पड़नेपर उसे भीबढ़ाया जा सकताहै।

0 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0