google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स में हुई कांग्रेस की तारीफ – बीजेपी बोली राहुल,सोनिया बेनकाब



भारत-चीन बॉर्डर पर तनाव और अर्थव्यवस्था को लगे तगड़े झटके के बीच केंद्र सरकार विपक्ष और खासतौर पर कांग्रेस के निशाने पर है। कांग्रेस और खुद राहुल गांधी अर्थव्यवस्था और बॉर्डर पर तनाव के मुद्दे को लेकर सरकार पर लगातार हमलावर हैं। हालांकि इस बीच चीन के सरकारी अखबार ने कांग्रेस के लिए ही मुसीबत खड़ी कर दी है। ग्लोबल टाइम्स ने अपने एक आर्टिकल में एक्सपर्ट के हवाले से कहा कि भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस बीजेपी की सत्ता को हिलाने का इंतजार ही कर रही है। इसे लपकते हुए बीजेपी अब कांग्रेस पर हमलावर हो गई है।

दरअसल ग्लोबल टाइम्स ने अपने ट्वीट में कहा, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी चीन के साथ बॉर्डर पर तनाव के बीच भारी दबाव झेल रहे हैं। कांग्रेस पार्टी बीजेपी की सत्ता को हिलाने का मौका देख रही है और यही वजह है कि वह बीजेपी के गवर्नेंस और विदेश नीति को लेकर इतनी हमलावर है।


बिन मांगी 'तारीफ' को लेकर बीजेपी के निशाने पर कांग्रेस


ग्लोबल टाइम्स की इस बिन मांगी 'तारीफ' को लेकर कांग्रेस अब घिरने लगी है। बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने इसे लपकते हुए कांग्रेस पर तीखा हमला बोला है। उन्होंने ट्वीट किया, 'हमने कहा था ना यूं ही 'माँ-बेटे' ने 2008 में चीन के साथ MoU नहीं किया था। इसके पीछे एक षड्यंत्र है। आज वो षड्यंत्र खुल गया है। माँ-बेटे ने चीन में अपना इमान गिरवी रखा था।' उन्होंने आगे लिखा, 'आज चीन और कांग्रेस, मोदी सरकार को गिराने का साझा प्रयास कर रहे हैं। ग्लोबल टाइम्स कांग्रेस के सपोर्ट में उतर आया है।

कांग्रेस और राहुल गांधी मोदी सरकार को घेरने में जुटे


कांग्रेस ने शनिवार को ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से सवाल किया कि चीन के साथ विभिन्न स्तरों पर हुई बातचीत का नतीजा क्या निकला? सुरजेवाला ने कहा, ‘प्रधानमंत्री जी और रक्षा मंत्री जी, देश को विश्वास में लीजिए। यह बताइए कि चीन हमारी सरजमीं से कब्जा कब छोड़ेगा? चीन से कब आंखों में आंख में डालकर बात होगी?’ इसके अलावा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी भी मोदी सरकार पर हमलावर हैं और रोजगार, जीडीपी, अर्थव्यवस्था, बॉर्डर विवाद को लेकर मोदी सरकार को घेर रहे हैं।

भारत के साथ सीमा विवाद सुलझाने के 'जुगाड़' में चीन


लद्दाख बॉर्डर पर भारत के साथ ताजा विवाद के बीच चीन ने रक्षा मंत्री स्तर की वार्ता की फरमाइश की थी। राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को मॉस्को में अपने चीनी समकक्ष वेई फेंघे से मुलाकात की। अधिकारियों के मुताबिक, राजनाथ सिंह ने अपने चीनी समकक्ष से दो टूक कहा कि चीन ने लद्दाख में यथास्थिति बदलने की कोशिश की, जो द्विपक्षीय समझौतों का उल्लंघन है।

टीम स्टेट टुडे



35 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0