google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

राज्यपाल ने मटैया लालपुर में ग्रामीणों और किसानों से की मुलाकात


पीलीभीत, 23 नवम्बर 2022 : राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने जनपद पीलीभीत भ्रमण के आज तीसरे दिन सुदूरवर्ती क्षेत्र में स्थित ग्राम मटैया लालपुर में ग्रामवासियों, सब्जी उत्पादक कृषकों एवं प्रगतिशील किसानों, महिला कृषक समूहों से मुलाकात और वार्ता की, साथ ही उन्होंने आर्गेनिक खेती की विभिन्न प्रकार की सब्जियों के लगे स्टॉलों एवं बंगाली बुनकारों द्वारा बनाई गई चटाई को भी देखा और महिला कृषकों द्वारा उत्पादित की गई सब्जियों की प्रशंसा की।



इसके पश्चात उन्होंने आंगनबाडी केन्द्र का निरीक्षण किया, इस दौरान आंगनबाडी केन्द्र में पढ़ रहे बच्चों से शिक्षा की गुणवत्ता परखी और बच्चों को पढ़ने हेतु कुर्सी, मेज, विभिन्न प्रकार खिलौने, खाना खाने हेतु प्लेटें सहित अन्य वस्तुऐं बच्चों को वितरित की। जिससे कि बच्चों को पढ़ने में सुगमता हो सके और उनका ध्यान पढ़ाई में लग सके। राजयपाल ने ग्राम प्रधानों को आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों के साथ जुड़कर केंद्र एवं प्रदेश सरकार की स्वास्थय योजनाओं का लाभ ग्रामवासियों को दिलवाने, गांव के प्रत्येक शिशु को शिक्षा हेतु आंगनवाड़ी भेजने, सभी सरकारी योजनाओं का लाभ गॉव के लाभार्थियों को दिलवाने में सक्रिय सहयोग करने को कहा। उन्होंने अपने सम्बोधन में बालिकाओं को सर्वाइकल कैंसर से बचाव हेतु टीका लगवाने, क्षय रोगियों को गोद लेने, महिला स्वयं सहायता समूहों के कार्यों की भी विशेष चर्चा की।

कार्यक्रम के प्रारम्भ में विनोबा सेवा आश्रम के पदाधिकारियों द्वारा राज्यपाल को शाल उढ़ाकर स्वागत किया गया। राज्यपाल ने मटैया लालपुर प्राथमिक विद्यालय में जिला पंचायत अध्यक्ष डा. दलजीत कौर, विधायक पूरनपुर बाबूराम पासवान, जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार, पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी, क्षेत्रीय ग्राम प्रधान, महिला अध्यक्षों एवं संत विनोबा सेवा आश्रम के पदाधिकारियों तथा महिला समूहों के कार्यक्रम को सम्बोधित किया। उन्होंने कहा की महिलाएं जब किसी काम को सामूहिक रूप से प्रारम्भ करती हैं तो उसके सकारात्मक परिणाम सामने आते हैं। उन्होंने महिलाओं के कृषि तथा अन्य उत्पादों को बड़ा बाजार उपलब्ध कराने पर जोर देते हुए कहा कि इन उत्पादों को सुव्यवस्थित विपणन प्राप्त हो जाने से एक सुरुचिपूर्ण विकास देखने को मिलेगा। उन्होंने कहा कि सब्जियों के उत्पादन में किसी भी प्रकार की रासयानिक खादों व दवाओं का प्रयोग न करें और आर्गेनिक खेती पर जोर दिया जाये। सब्जियों के उत्पादन में कम्पोस्ट व गोबर की खाद का प्रयोग करें, जिससे की सभी को शुद्व सब्जियॉ प्राप्त हो सके। उन्होंने कहा कि सब्जी का उत्पादन बढेगा-समाज से कुपोषण हटेगा।

उन्होंने अपने सम्बोधन में स्थानीय महाविद्यालयों और स्कूलों के विद्यार्थियों को गावों भ्रमण करायें, यहां की आवश्यकताओं से परिचित कराने, गांवों में प्रोजेक्ट कार्य कराने पर जोर दिया। उन्होंने कहा ग्रामीण उद्योग और हस्त निर्मित उत्पादों के निर्माण को सुगम करने हेतु प्रोजेक्ट दिए जाएँ तो बेहतर परिणाम प्राप्त होंगें।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि बच्चों की शिक्षा पर विशेष ध्यान दिया जाये। सरकार द्वारा विभिन्न प्रकार की शिक्षा हेतु संचालित योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है आप सभी लोग अपने की शिक्षा हेतु साइकिल, छात्रवास, प्रवेश परीक्षा पास कराकर बच्चों को निःशुल्क शिक्षा का भी लाभ दिया जा रहा है। इस दौरान उन्होंने सभी को सम्बोधित करते हुये कहा कि हम सभी लोग बालक/बालिकाओं में किसी भी प्रकार का भेदभाव न रखें और उनके पालन पोषण पर विशेष ध्यान रखें, जिससे की उन्हें अच्छे संस्कार प्राप्त हो सके तथा उनकी प्रतिदिन की क्रियाकलापों पर निगरानी बनाये रखें, जिससे कि समाज में हो रहे अपराधों पर अंकुश लगाया जा सके। इसके साथ ही राज्यपाल द्वारा 09 महिलाओं को अगंवस्त्र प्रदान किये गये। कार्यक्रम के अन्त में विधायक पूरनपुर, शैलेन्द्र गुप्ता आदि ने राज्यपाल को स्मृति चिन्ह भेंट किये।

रिपोर्टर-रमेश कुमार

12 views0 comments