google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

भारी विरोध के बाद हुआ दलित बहनों का अंतिम संस्कार, पढ़ें- अब तक की फुल कवरेज


लखीमपुर, 15 सितंबर 2022 : लखीमपुरखीरी के निघासनमें दो सगीबहनों के साथबुधवार को हुएसामूहिक दुष्कर्म मामले मेंगुरुवार देर शामदोनों का अंतिमसंस्कार कर दियागया। जिलाधिकारी नेपरिजन को उनकीतीन मांगें पूरीकरने का आश्वासनदिया है। गुरुवारसुबह मामला मीडियामें आने केबाद इस परदिनभर राजनीति चलतीरही। पुलिस नेइस मामले केसभी छह आरोपितोंको गिरफ्तार करलिया है। पोस्टमार्टमरिपोर्ट के मुताबिकदोनों बहनों संगपहले सामूहिक दुष्कर्मकिया गया, इसकेबाद उनकी रस्सीसे गला दबाकरहत्या की गई।फिर शवों कोपेड़ से लटकादिया गया।

लखीमपुर खीरी केनिघासन में दो बहनोंके साथ सामूहिकदुष्कर्म तथा हत्याके मामले काएससी/एसटी आयोगने संज्ञान लियाहै। आयोग नेउत्तर प्रदेश केमुख्य सचिव दुर्गाशंकर मिश्रा, डीजीपी, जिलाधिकारी लखीमपुर खीरी तथाएसपी लखीमपुर सेरिपोर्ट मांगी है।

शवों काअंतिम संस्‍कार

दुष्‍कर्मके बाद सगीबहनों की हत्‍या केमामले में दिनभरचली उठापठक केबाद देर शामभारी सुरक्षा बलके बीच शवोंका अंतिम संस्‍कार करदिया गया। पोस्टमार्टमके बाद उसवक्त एक बारफिर प्रशासन केहाथ पांव फूलगए जब परिवारजनों ने दोनोंकिशोरियों का अंतिमसंस्कार करने सेयह कहते हुएइनकार कर दियाकि जब तकउनकी मांगे पूरीनहीं होंगी, बेटियोंके शव यूंही रहेंगे। हालांकिबाद में प्रशासनके मनाने परपरिजन मान गएऔर उन्होंने स्वेच्छासे अंतिम संस्कारकी अनुमति देदी।

छह गिरफ्तारएक को लगीगोली

लखीमपुर खीरी केनिघासन में दोसगी दलित बहनोंकी हत्या केमामले में दुष्कर्मके आरोपित जुनैद, सोहैल, आरिफ, हफीज वकरीमुद्दीन के साथमदद करने वालेछोटे को गिरफ्तारकिया गया है।इसमें जुनैद कीतो पुलिस सेमुठभेड़ भी हुईजिसमें उसको गोलीलगी। फिलहाल उसकोअस्पताल में भर्तीकराया गया है।सभी आरोपीपीड़ित परिवार के पड़ोसीहैं। पुलिस केमुताबिक, सभी आरोपीआपस में दोस्तहैं।

पीड़ित पक्ष कीमांग- सभी आरोपितोंको मिले फांसी

लखीमपुर खीरी केनिघासन थाना क्षेत्रमें दो सगीबहनों के साथसामूहिक दुष्कर्म तथा हत्याके मामले मेंपीड़ित पक्ष कीसभी दोषियों कोफांसी पर लटकानेकी मांग है।पीड़िता के पिताने कहा किइस मामले मेंहमें जल्दी इंसाफचाहिए। इंसाफ होना चाहिए।पिता ने रूंधेगले से अपनादर्द भरा पक्षरखा है। मृतकाके पिता नेकहा है किमैं चाहता हूंकि इंसाफ होनाचाहिए। उनको (आरोपियों को) फांसी होनी चाहिए।

सामूहिक दुष्कर्म केबाद गला घोंटपेड़ से लटकायाशव

जिन दोसगी बहनों केशव संदिग्ध हालातमें खैर केपेड़ से लटकतेमिले थे, उनकीरस्सी से गलाकस कर हत्याकी गई थी।उनके साथ सामूहिकदुष्कर्म भी कियागया था। इसकीपुष्टि गुरुवार को उनकेशवों के पोस्टमार्टमके बाद हुईहै। जिला मुख्यालयपर डा. राजेंद्र, डा. ओवैस अहमदऔर डा. अर्चनाके पैनल नेदोनों शवों केपोस्टमार्टम किए। इसदौरान वीडियोग्राफी भीकराई गई।

भारी विरोधके बाद हुआअंतिम संस्कार

गुरुवार दोपहर पोस्टमार्टमके बाद दोनोंबहनों के शवपरिजन को सौंपदिए गए। शवघर पहुंचते, पूरेगांव में मातमफैल गया। शवदेख परिजन कारो-रोकर बुराहाल था। इसकेसाथ ही लोगोंमें इस घटनाको लेकर भारीगुस्सा देखने को मिला।परिजन व रिश्तेदारअपनी मांगों कोलेकर अंतिम संस्कारन करने परअड़ गए। उन्हेंमनाने के लिएप्रशासन को काफीमशक्कत करनी पड़ी।देर शाम जिलाधिकारीने उनकी तीनमांगें पूरी करनेका भरोसा दिलाया।इसके बाद परिजनअंतिम संस्कार कोतैयार हुए। देरशाम पुलिस सुरक्षामें दोनों बहनोंका अंतिम संस्कारकर दिया गया।

दोषियों को मिलेगीसख्त सजाः डिप्टीसीएम

उप मुख्यमंत्रीब्रजेश पाठक नेलखीमपुर कांड मामलेमें कहा किअपहरण के बाददुष्कर्म और हत्यामें जुनैद, सोहेल, हाफिजुल, करीमुद्दीन और आरिफशामिल थे। पहलेलड़कियों की गलादबाकर हत्या कीगई और फिरउन्हें फांसी पर लटकादिया गया। सरकारऐसा कदम उठाएगीकि उनकी आनेवाली पीढिय़ों कीआत्मा भी कांपउठेगी। इस परिवारको न्याय दियाजाएगा; फास्ट-ट्रैक कोर्टके माध्यम सेकार्रवाई की जाएगी।उप मुख्यमंत्री केशवप्रसाद मौर्य ने कहाकि लखीमपुर कीघटना दुखद एवंदुर्भाग्यपूर्ण है। सभीअपराधियों के खिलाफसख्त से सख्तकार्रवाई की जाए।मैं विपक्ष सेउम्मीद करता हूं, चाहे अखिलेश यादवहों, प्रियंका गांधीहों या मायावतीहों, वे मामला का राजनीतिकरणकरने के बजायपरिवार को सांत्वनादें। यूपी मेंकानून का राजकायम है।

विपक्ष ने पुलिसप्रशासन और कानूनव्यवस्था पर साधानिशाना

निघासन में दोसगी बहनों कीसामूहिक दुष्कर्म के बादहत्या की वारदातपर सियासत गरमागई है। प्रमुखविपक्षी दल समाजवादीपार्टी समेत बहुजनसमाज पार्टी, कांग्रेसऔर भीम आर्मीके कई नेताघटना के बादसे ही निघासनसे लेकर जिलामुख्यालय पर पोस्टमार्टमहाउस तक डटेरहे। इस घटनाको लेकर विपक्षीदलों के नेताओंने कानून व्यवस्थापर सवाल उठातेहुए सरकार कोआड़े हाथों लियाहै।

मानवाधिकार आयोग नेमांगा जवाब

लखीमपुर खीरी केनिघासन में दोबहनों के साथसामूहिक दुष्कर्म तथा हत्याके मामले कामानवाधिकार आयोग नेसंज्ञान लिया है।माववाधिकार आयोग नेकहा है किप्रथम दृष्टया यहप्रकरण मानव अधिकारोंका हनन काप्रतीत होता है।यह प्रकरण अतिआवश्यक तथा गंभीरहै। अत: पुलिसअधीक्षक लखीमपुर खीरी इसप्रकरण पर अपनीरिपोर्ट प्रेषित करें।

सीएम नेएडीजी प्रशांत कुमारको सौंपी जांच

लखीमपुर खीरी केनिघासन में बुधवारदोहपर में दोसगी बहनों केसाथ सामूहिक दुष्कर्मके बाद हत्याके मामले मेंयोगी आदित्यनाथ सरकारबेहद सख्त होगई है। इसमेंशामिल छह आरोपितोंको पुलिस नेगुरुवार को मुठभेड़के बाद गिरफ्तारकिया है। मुख्यमंत्रीयोगी आदित्यनाथ केनिर्देश पर एडीजीकानून-व्यवस्था प्रशांतकुमार मौके परपहुंचेंगे। वह अपनीरिपोर्ट सीएम योगीआदित्यनाथ को देंगे।

दुष्कर्म के बादहत्या, पुलिस की गिरफ्तमें छह आरोपी

दो सगीबहनों के साथसामूहिक दुष्कर्म के बादहुई हत्या केमामले में पुलिसने वारदात मेंशामिल छह लोगोंको गिरफ्तार करलिया है। इसमेंसे एक आरोपीपुलिस मुठभेड़ मेंजख्मी भी हुआहै। जिसके पांवमें गोली लगीहै। पुलिस कादावा है किइस पूरी वारदातको कुल छहलोगों ने मिलकरअंजाम दिया औरअपनी पहचान सार्वजनिकहोने के डरसे दोनों बहनोंकी हत्या करदी। एसपी संजीवसुमन ने गुरुवारको एक औपचारिकप्रेस वार्ता मेंयह जानकारी दी।

अखिलेश और प्रियंकाने कानून-व्यवस्थापर उठाया सवाल

लखीमपुर खीरी केनिघासन में अपहरणकर दो सगीबहनों की हत्याके मामले कोलेकर समाजवादी पार्टीके राष्ट्रीय अध्यक्षअखिलेश यादव नेराज्य सरकार कोकानून-व्यवस्था केमुद्दे पर घेराहै। अखिलेश नेघटना को हाथरसकांड से जोड़तेहुए सवाल उठायाहै। कांग्रेस महासचिवप्रियंका वाड्रा ने भीदो सगी बहनोंकी हत्या कोलेकर राज्य सरकारपर तीखा हमलाबोला है।

0 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0