google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

दलित समाज के संतों के स्मारक से हाथी की प्रतिमा चोरी होना शर्म की बात, मायावती ने जताई चिंता


लखनऊ, 28 जुलाई 2022 : बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने राजधानी लखनऊ में हाथी की प्रतिमा चोरी होने के मामले को गंभीरता से लिया है। मायावती ने कहा कि दलित समाज के संतों के स्मारक डा. भीमराव अम्बेडकर सामाजिक परिवर्तन स्थल से हाथी की प्रतिमा का चोरी होना शर्म और चिंता की बात है।

सामाजिक परिवर्तन स्थल से हाथी की प्रतिमा चोरी होने पर बीएसपी चीफ मायावती ने चिंता जताई है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि 'देश में उपेक्षित, तिरस्कृत, दलित और अन्य पिछड़े वर्ग में जन्में महान संतों, गुरुओं, महापुरुषों के आदर-सम्मान में बीएसपी सरकार ने भव्य डा. भीमराव अम्बेडकर सामाजिक परिवर्तन स्थल का निर्माण कराया था। यह क्षेत्र अब पर्यटन का मुख्य केंद्र है। यहां लगी हाथी का चोरी होना शर्म व चिंती की बात है।

बता दें कि राजधानी लखनऊ के बुध विहार पार्क से हाथी की प्रतिमा चोरी का मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक गोमती रिवर फ्रंट पर बने बुध विहार पार्क में लगे एक फाउंटेन में ये हाथी की प्रतिमा लगी थी, जो कि अब चोरी हो गई है। जहां से चोरी हुई है वहां सुरक्षाकर्मियों के अलावा किसी और को जाने की अनुमति नहीं है।

इस मामले में सुरक्षाकर्मी नियाज अहमद की तहरीर पर गौतमपल्ली पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर ली है। चोरी हुई मूर्ति का वजन लगभग दो से तीन किलो है। पुलिस के अनुसार वहां पर तैनात कर्मचारियों से लेकर सभी तथ्यों पर जांच की जा रही है। एडीसीपी सेंट्रल जोन राघवेंद्र मिश्रा ने मामले की गंभीरता से जांच करने के निर्देश दिए हैं।
1 view0 comments