google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

'खेलेगा यूपी, जीतेगा यूपी' नारे को साकार करेगी योगी सरकार, गांवों तक बनेंगे खेल मैदान


लखनऊ, 30 सितंबर 2022 : योगी सरकार 'खेलेगा यूपी,जीतेगा यूपी' केनारे को साकारकरेगी। इसमें गांव सेलेकर ब्लॉक औरजिला स्तर परस्थानीय स्तर परलोकप्रिय खेलों के लिएजरूरी बुनियादी सुविधाओं, वहां की प्रतिभाओंको बचपन सेही निखारने मेंप्रशिक्षण और समय-समय परप्रदेश, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीयस्तर के खोलोंपर अपनी प्रतिभादिखाने वाले खिलाड़ियोंको प्रोत्साहन देनेकी महत्वपूर्ण भूमिकाहोगी। इस क्रममें सरकार कीयोजना हर गांवमें खेल मैदान, ब्लॉक मुख्यालय परमिनी स्टेडियम, एकजिला,एक खेलऔर खेलो इंडियासेंटर बनाने कीहै।

दूर होगीप्रशिक्षकों की कमी

खेलों के लिएबुनियादी सुविधाएं विकसित करनेके साथ स्थानीयस्तर पर खेलप्रतिभाओं को निखारनेके लिए प्रशिक्षणपर भी बराबरका जोर है।इसके लिए 42 प्रशिक्षकोंकी नियुक्ति कीप्रक्रिया शुरू होगई है। 250 प्रशिक्षकोंके और नियुक्तिकी प्रक्रिया भीशीघ्र ही शुरूहोने वाली है।

खिलाड़ियों की हौसलाअफजाई का प्रयास

जहां तकखिलाड़ियों के हौसलाअफजाई की बातहै तो मुख्यमंत्रीयोगी आदित्यनाथ खुदइसक हर संभवप्रयास करते हैं।अभी चंद रोजपूर्व सीएम योगीने इसी मकसदसे गुजरात केराष्ट्रीय खेल आयोजनमें जाने वालेउत्तर प्रदेश केखिलाड़ियों से मुलाकातकी थी। लगेहाथ उन्होंने इनकेयात्रा के लिएट्रेन में एसीथ्री टीयर केटीकट की भीसुविधा दी थी।

नई खेलनीति लाने जारही योगी सरकार

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथकी पहल परअगस्त, 2021 में खिलाड़ियोंके सम्मान मेंलखनऊ में खेलकुंभ का भीआयोजन हुआ था।इस दौरान सीएमयोगी ने लखनऊमें खेल एकेडमीबनाने व कुस्तीसमेत दो खेलोंको एडाप्ट करनेऔर 10 साल तकइनके वित्त पोषणकी घोषणा कीथी। प्रदेश कीखेल प्रतिभाओं कीदक्षता बढ़े इसकेलिए मेरठ मेंहाकी के जादूगरकहे जाने वालेमेजर ध्यानचंद केनाम से वैश्विकस्तर का खेलविश्वविद्यालय भी बनरहा है। सरकारइसी मकसद सेपांच साल केलिए नई खेलनीति लाने कीभी तैयारी कररही है।

गोरखपुर में वर्ल्डक्लासस्पोर्ट्स सिटी काप्रस्ताव

गोरखपुर या इसकेआस-पास वर्ल्डक्लासस्पोर्ट्स सिटी बनानेका भी प्रस्तावहै। दो चरणोंमें बनने वालीस्पोर्ट्स सिटी केलिए करीब 300 से 400 एकड़ जमीन कीजरूरत होगी 100-150 एकड़जमीन में स्पोर्टससिटी होगी। बाकीमें खास किस्मके बहुउद्देश्यीय स्टेडियम, इनडोर स्टेडियम, मीटिंगहाल और आवासीयएवं अन्य सुविधाओंका विकास कियाजाएगा। करीब 10 दिन पहलेशासन ने इसकेलिए गोरखपुर केकमिश्नर को पत्रलिखकर पहले चरणके लिए 200 एकड़भूमि उपलब्ध करानेको कहा है।नाम के अनुरूपइसकी सभी बुनियादीसुविधाएं वर्ल्डक्लास की होंगी।

हर खेलके लिए होंगेअलग-अलग स्टेडियम

अलग-अलगखेलों के लिएअलग-अलग क्षमताके स्टेडियम होंगे।मसलन 50-50 हजार कीक्षमता के बहुउद्देश्यीयक्रिकेट एवं फुटबालस्टेडियम, एथलेटिक्स स्टेडियम कीक्षमता 30 हजार कीहोगी। शूटिंग एवंतीरंदाजी रेंज कीक्षमता 500-500 की, कुश्तीएवं वालीबाल स्टेडियमकी क्षमता 1000-1000 कीहोगी। इसी तरहखोखो स्टेडियम कीक्षमता 2000 की होगी।

अलग खेलोंके लिए होंगीएकेडमी

पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिपपर बनने वालीप्रस्तावित स्पोर्ट्स सिटी में 5000 की क्षमता का बहुउद्देश्यीयस्टेडियम होगा। इसकी छतजरूरत के अनुसारखुल सकेगी। कनवेंसनसेंटर, सभी अत्याधुनिकसुविधाओं से लैसस्पोर्ट्स क्लिनिक, 5 स्टार एवंबजट होटल, मनोरंजनपार्क, मल्टीप्लेक्स एवं शापिंगमाल, हेल्थ एवंफिटनेश सेंटर, फुटबाल, क्रिकेट, कुश्ती, बैडमिंटन एवं अन्यलोकप्रिय खेलों के लिएएकेडमी, होटल मैनेजमेंटइंस्टीटूट आदि काभी प्रस्ताव है।दूसरे चरण मेंचैपिंशिपनशिप गोल्फकोर्स, गोल्फ एकेडमी, गोल्फ रेसिडेंशियल विलाएवं अपार्टमेंट आदिका भी प्रस्तावहै। कुल मिलाकरयह देश कीपहली ऐसी एकीकृतस्पोर्टस सिटी होगीजहां खेल एवंमनोरंजन से जुड़ीसभी सुविधाएं होंगी।

पूर्वांचल के युवाखेल में करेंगेअपना नाम रौशन

गोरखपुरएकऐसाशहरहोगाजिसमेंनकेवलराष्ट्रीयएवंअंतरराष्ट्रीयस्तरकेअधिकांशलोकप्रियखेलप्रतियोगिताओंकाआयोजनहोसकेगा, बल्किअन्यबुनियादीसुविधाओंकेनातेस्पोर्ट्सटूरिज्मकोभीबढ़ावामिलेगा।इनसुविधाओंकेविकासकेलिएनिवेशकभीआएंगे।इससेनिवेशकेसाथस्थानीयस्तरपररोजगारकेअवसरभीबढ़ेगे।बेहतरसुविधाएंमिलनेसेपूर्वांचलकेखिलाड़ीदेशदुनियांमेंअपनानामऔररौशनकरसकेंगे

11 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0