google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

जानिए आखिर क्यों हुई जेल में आजम खां के बैरक की तलाशी


सीतापुर, 30 अप्रैल 2022 : समाजवादीपार्टी के संस्थापकसदस्यों में सेएक पूर्व कैबिनेटमंत्री आजम खांइन दिनों बेहदचर्चा में हैं।रामपुर सदर सेविधायक आजम खांरामपुर में कईमामलों में अनियमितताके मामले मेंआरोपित होने केबाद से करीब 14 महीने से सीतापुरकी जिला जेलमें बंद हैं।

आजम खांसे बीते हफ्तेसे कई नेतामिलने आ रहेहैं, इसी बीचशनिवार को जिलाप्रशासन के जेलपर छापा मारनेसे खलबली मचगई। सीतापुर जिलाजेल में आजमखां की बैरककी शनिवार कोतलाशी ली गई।सीतापुर के डीएमके साथ एसपीतथा जेल प्रशासनने आजम खांकी बैरक कोकाफी देर तकखंगाला। जिला जेलमें आजम खांकी बैरक कीतलाशी की खबरपर जिले मेंखलबली मची है।

डीएम अनुजसिंह तथा एसपीआरपी सिंह नेकहा कि यहरूटीन पड़ताल है।इसी क्रम मेंआजम खां कीबैरक की भीपड़ताल की गईहै। सीतापुर जेलमें अन्य कैदीसामान्य बैरक मेंहैं, जबकि आजमखां को तन्हाईबैरक में रखागया है। उनकीसुरक्षा का भीपूरा ध्यान रखाजाता है। इसकेसाथ ही बीतेकई दिनों सेउनका स्वास्थ्य भीठीक नहीं हैं।

आजम खांसे सीतापुर जेलमें प्रगतिशील समाजवादीपार्टी लोहिया के राष्ट्रीयअध्यक्ष शिवपाल सिंह यादवके बाद कांग्रेसके नेता आचार्यप्रमोद कृष्णम मिले थे।इन दोनों नेताओंके साथ आजमखां ने काफीदेर तक बातभी की थी।समाजवादी पार्टी के अध्यक्षअखिलेश यादव नेविधायक रविदास मेहरोत्रा केनेतृत्व में पार्टीका एक प्रतिनिधिमंडलभेजा था, लेकिनआजम खां नेइन सभी सेमिलने से इन्कारकर दिया था।

समाजवादी पार्टी केबड़ा मुस्लिम चेहरामाने जाने वालेआजम खां कोलेकर इन दिनोंउत्तर प्रदेश मेंराजनीति काफी गरमहै। उनको ओवैसीने अपनी पार्टीमें शामिल होनेका न्यौता दियाहै जबकि भारतीयजनता पार्टी केसांसद बृजभूषण शरणसिंह ने भीसीतापुर जेल जाकरआजम खां सेमिलने की इच्छाजताई है।

4 views0 comments

Comments


bottom of page