google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

लखनऊ का लाल बहुत याद आया – अटल चौराहे के पास बाबूजी की प्रतिमा



रिपोर्ट - आदेश शुक्ला


लखनऊ में सियासत की धुरी रहे लालजी टंडन की पहली पुण्यतिथि पर राजधानी के हजरतगंज इलाके में उनकी कांस्य प्रतिमा लगाई गई। साढ़े बारह फिट ऊंची प्रतिमा का लोकार्पण रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया। इस मौके पर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या और डा. दिनेश शर्मा, नगरविकास मंत्री आशुतोष टंडन सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे। बाबूजी के नाम से शहर में पहचान रखने वाले लालजी टंडन की प्रतिमा पुरानी हजरतगंज कोतवाली के पास लगाई गई है जहां उन्होंने कई बार धरना दिया था। जानकारी के मुताबिक ये प्रतिमा सिर्फ 28 दिन में बनकर तैयार हुई है।

प्रतिमा के अनावरण के बाद रक्षा मंत्री ने लालजी टंडन के साथ बिताई स्मृतियां साझा की। उन्होंने कहा कि बाबूजी को लखनऊ के बारे में जितनी बारीक जानकारी थी, उतना किसी के पास नहीं थी।


यूपी में भाजपा को सत्ता के गलियारे में स्थापित करने में बाबूजी की बड़ी भूमिका रही है। संबंधो का निर्वाह करना उनसे सीखना चाहिए। हर पार्टी के लोगों से उनके संबंध अच्छे थे। मायावती जब मुख्यमंत्री थीं तो उन्होंने कहा था कि टंडन जी मेरे भाई हैं। राजनीति में मतभेद हो सकते हैं मनभेद नहीं। टंडन जी को लोग विकास पुरुष के नाम से पुकारते थे। अटल जी के साथ उनकी विशेष भूमिका रही। मैं अटल जी को श्रीराम तो टंडन जी को लखनऊ के लक्ष्मण की तरह देखता हूं।



मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लालजी टंडन को श्रद्धांजलि अर्पित की और नगर निगम बोर्ड व महापौर को बधाई दी। उन्होंने कहा कि टंडन जी ने पार्षद से लेकर नगर विकास मंत्री तक का सफर उन्होंने तय किया। दो राज्यों में राज्यपाल रहे। समाज के हर तबके में उनके प्रशंसक हैं। टंडन जी के सानिध्य में नेपाल में मुझे एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने का मौका मिला था। तब उन्होंने मुझे पटना राजभवन में बुलाया था और रात में मैं वहीं ठहरा था।


उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि बाबूजी सिर्फ लखनऊ के नहीं बल्कि पूरे प्रदेश के हैं। सभी को उनके बनाए पदचिन्हों पर चलना चाहिए।


उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा कि लखनऊ और बाबूजी एकदूसरे के पूरक थे। बाबूजी लखनऊ की चलती फिरती विरासत थे।


नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन इस अवसर पर भावुक हो गए। उन्होंने कहा कि मैं मंत्री के रूप में एक जनप्रिय राजनेता की प्रतिमा के अनावरण के अवसर पर शामिल हूं। इस स्थान से बाबूजी का बहुत गहरा नाता रहा है।


लखनऊ की मेयर संयुक्ता भाटिया ने लालजी टंडन के नाम पर एक पार्क का नाम रखने की घोषणा की।

आपको बता दें कि लालजी टंडन ने भारतीय जनता पार्टी के एक सामान्य कार्यकर्ता के रुप में सार्वजनिक जीवन जो सक्रिय यात्रा शुरु की वो पार्षद, विधायक, मंत्री, सांसद और राज्यपाल होने के क्रम में आगे बढ़ी।


टीम स्टेट टुडे


विज्ञापन

#laljitandon #statue #defenseminister #rajnathsingh #yogiadityanath #keshavprasadmaurya #drdineshsharma #lucknow #hazratganj

36 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0