google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

लखनऊ में कोरोना संक्रमण की स्थिति खतरनाक, अस्पताल फुल, नगर निगम में फूटा बम



उत्तर प्रदेश में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। सरकार जितने बेड बढ़वाती है उससे ज्यादा मरीज निकल आते हैं। बावजूद इसके योगी सरकार युद्धस्तर पर कोरोना से निपटने में जुटी हुई है। अब तक प्रदेश में 12 लाख 31 हजार 939 लोगों के टेस्ट हो चुके हैं। यूपी स्वास्थ्य विभाग ने 20 दिनों के अंदर किए 628000 टेस्ट किए हैं।


इस बीच अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने बयान दिया है फ़िलहाल 31 जुलाई तक शुक्रवार रात 10 बजे से सोमवार सुबह 5 बजे तक प्रतिबंध रहेगा। अभी कोई नया आदेश नही जारी किया गया है। सरकार की तरफ से ऐसी बातों का खंडन किया गया है जिसमें 16 जुलाई से पूर्ण लाकडाउन की अटकलें लगाई जा रही थीं।


दूसरी तरफ लखनऊ नगर निगम जिस पर शहर की सफाई का जिम्मा है वहां अब 50% स्टाफ के साथ काम किया जाएगा। नगर आयुक्त इंद्रमणि त्रिपाठी ने निर्देश दिए हैं। ये आदेश समूह ग और घ कर्मचारियों को लेकर दिया गया है। निगम के कर्मचारी रोस्टर के हिसाब से बुलाए जाएंगे। आपको बता दें कि लखनऊ समेत पूरे प्रदेश में शनिवार और रविवार को सरकार ने लाकडाउन का ऐलान किया है। इन दिनों में हर जिले में सफाई अभियान चलाया जाएगा। राजधानी लखनऊ में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए ये फैसला लिया गया है।


दरअसल लखनऊ नगर निगम में कोरोना बम फूटा है। लखनऊ नगर निगम में तैनात PCS अमित कुमार अपर नगर आयुक्त लखनऊ करोना संक्रमित निकले हैं। नगर निगम में बुधवार को 11 लोग कोरोना पाजिटिव निकले हैं। इतने कर्मचारियों के पॉजिटिव आने से सैकड़ों कर्मियों में दहशत फैल गई है। नगर निगम को सैनिटाइजेशन के लिए किया गया बन्द कर दिया गया है। नगर निगम के अफसरों पर कोरोना के खिलाफ सुरक्षा संसाधन न दिए जाने का आरोप है। लखनऊ में आज 198 लोग कोरोना का शिकार हुए है।


टीम स्टेट टुडे



103 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0