google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

माफिया अतीक अहमद के बेटे अली अहमद ने दिया पुलिस और एसटीएफ को चकमा


प्रयागराज, 30 जुलाई 2022 : प्रापर्टी डीलर से रंगदारी मांगने के साथ ही हमला करने के प्रकरण में लम्बे समय से वांछित अली अहमद (Ali Ahmad) ने शनिवार को प्रयागराज की जिला अदालत में सरेंडर कर दिया। पूर्व सांसद माफिया अतीक अहमद (Atiq Ahmad) के बेटे अली अहमद पर 50 हजार का इनाम घोषित किया गया था और उत्तर प्रदेश एसटीएफ (UPSTF) के साथ प्रयागराज पुलिस को उसकी तलाश थी। इन सभी को उसने चकमा दे दिया।

लम्बी अवधि से फरार चल रहे 50 हजार के ईनामी पूर्व सांसद माफिया अतीक अहमद (Atiq Ahamd) के बेटे अली अहमद ने पुलिस व एसटीएफ को भी चकमा दे दिया। शनिवार को उसने प्रयागराज की जिला अदालत में सरेंडर कर दिया। अतीक अहमद भी विभिन्न मामलों में दोषी होने के बाद करीब तीन वर्ष से अहमदाबाद की जेल में बंद हैं। अली अहमद की तरफ से हाई कोर्ट से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक में अग्रिम जमानत अर्जी दाखिल की गई थी, लेकिन कहीं से राहत नहीं मिली।

नैनी जेल भेजने का आदेश

पुलिस ने अली अहमद की तलाश में यूपी समेत दूसरे राज्यों में भी छापेमारी की कार्रवाई की थी, लेकिन गिरफ्तार करने में नाकाम रही। जिसके बाद आज चकमा देकर अली ने अपने वकीलों के साथ जिला न्यायालय में सरेंडर कर दिया।

§ सरेंडर के बाद कोर्ट ने अली अहमद को न्यायिक हिरासत में लेकर नैनी जेल भेजने का आदेश दिया है।

§ अली की तरफ से कोर्ट में जमानत अर्जी भी दाखिल की गई, जिसे अर्जी खारिज कर दिया गया।

सरेंडर की सूचना पर पहुंची पुलिस

अली अहमद ने शनिवार को दिन में प्रयागराज जिला अदालत के एसीजेएम 4 कोर्ट में सरेंडर कर दिया। इसका पता चलते ही पुलिस वहां पहुंच गई और विधिक कार्रवाई कर रही है।

§ कर्नलगंज सीओ अजीत सिंह चौहान का कहना है कि अली ने करेली की मुकदमे में आत्मसमर्पण किया है।

लम्बी अवधि से थी तलाश

अतीक अहमद के बेटे अली अहमद की तलाश में पुलिस लगातार छापा मारने के साथ ही साथ ईनामी राशि भी बढ़ा रही थी। अली अहमद पर 50 हजार रुपये का इनाम घोषित था। प्रयागराज के खुल्दाबाद के चकिया मोहल्ला निवासी अली अहमद पर बीते वर्ष एक प्रापर्टी डीलर से पांच करोड़ की रंगदारी मांगने और फिर उसके ऊपर हमला करने के आरोप में करेली थाने में मुकदमा लिखा गया था।

§ इस मामले में पुलिस ने उसके दो साथियों को उसी समय गिरफ्तार कर भेज दिया था, लेकिन अली सहित अन्य लोग फरार थे।

अली अहमद की गिरफ्तारी न होने पर उस पर 50 हजार का इनाम घोषित किया गया था। अभी कुछ दिन पहले एसटीएफ की टीम ने बंगाल के खिदिरपुर में छिपे अली और उसके साथियों की तलाश में छापेमारी की थी लेकिन दबिश से पहले ही वह फरार हो गया था।


0 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0