google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

निकाय चुनाव में करारी हार के बाद मायावती की हाईलेवल मीटिंग


लखनऊ, 17 मई 2023 : बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने कल व‍िशेष बैठक बुलाई है। इस बैठक में लोकसभा चुनाव 2024 की तैयार‍ियों को लेकर रणनीत‍ि बनेगी। बता दें क‍ि नगरीय न‍िकाय चुनाव में म‍िली हार के बाद मायावती ने कहा था क‍ि पार्टी समय आने पर इसका बदला जरूर लेगी।

बसपा सुप्रीमों मायावती ने ट्वीट कर कहा क‍ि, 'यूपी में सत्ताधारी पार्टी द्वारा जनविरोधी नीतियों, गलत कार्यकलापों आदि कमियों का चुनाव पर प्रभाव कम करने के लिए सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग, इनका द्वेषपूर्ण, दमनकारी व्यवहार एवं धर्म का राजनीतिक स्वार्थ के लिए इस्तेमाल अति-गंभीर व अति-चिन्ताजनक, जो लोकतंत्र के लिए घातक है'।

बसपा प्रमुख ने कहा क‍ि, 'इन घोर जनविरोधी चुनौतियों का डटकर मुकाबला करने हेतु ठोस रणनीति बनाकर उसके हिसाब से आगे खासकर लोकसभा आम चुनाव के लिए अभी से ही तैयारी में जुट जाने के लिए यूपी स्टेट के सभी छोटे-बड़े पदाधिकारियों, मण्डल व ज‍िला अध्यक्षों आदि की लखनऊ में कल विशेष बैठक है'।

बता दें क‍ि नगरीय न‍िकायों के चुनाव में म‍िली हार के बाद मायावती ने BJP पर हमलावर होते हुए कहा था क‍ि, 'यूपी निकाय चुनाव में भाजपा के साम, दाम, दण्ड, भेद आदि अनेकों हथकण्डों के इस्तेमाल के साथ ही साथ इनके द्वारा सरकारी मशीनरी के दुरुपयोग से बीएसपी चुप होकर बैठने वाली नहीं है, बल्कि वक्त आने पर इसका जवाब बीजेपी को जरूर मिलेगा।

साथ ही, तमाम विपरीत हालात का सामना करते हुए बीएसपी पर भरोसा करके पार्टी उम्मीदवारों को वोट करने के लिए लोगों का तहेदिल से आभार व शुक्रिया। अगर यह चुनाव भी फ्री एण्ड फेयर होता तो नतीजों की तस्वीर कुछ और होती। बैलेट पेपर से चुनाव होने पर बीएसपी मेयर चुनाव भी जरूरी वैसे चाहे भाजपा हो या सपा दोनों ही पार्टियां सत्ता का दुरुपयोग करके ऐसे चुनाव जीतने में एक-दूसरे से कम नहीं हैं, जिस कारण सत्ताधारी पार्टी ही धांधली से अधिकतर सीट जीत जाती है और इस बार भी इस चुनाव में ऐसा ही हुआ, यह अति-चिन्तनीय है।

19 views0 comments

Comments


bottom of page