google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

कांग्रेस का हाथ कालाबाजारियों के साथ – बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी का कांग्रेस पार्टी पर बड़ा हमला



कोरोनाकाल में लोगों को दी गई हर मदद छोटी पड़ गई। बड़ी संख्या में लोगों ने अपनों को खो दिया। बहुत सारे लोग ऐसे हैं जो अब भी जिंदगी की जंग लड़ रहे हैं। जब लोगों को मदद की दरकार थी तब ऐसे बहुत सारे लोग थे जिन्होंने बिना किसी स्वार्थ के जो बन पड़ा वो किया। ये भी सच है कि बीते महीने कोरोना की दूसरी लहर इतनी घातक थी कि लोगों को सोचने समझने तक का मौका नहीं मिला।


इस बीच कुछ ऐसे भी हैं जिन्होंने ना सिर्फ लोगों की मदद के नाम पर सियासत की बल्कि प्रचार प्रसार ऐसा कि महामारी की त्रासदी को कुछ और ही रंग देने की कोशिश होने लगी। महामारी से संबंधित उपकरणों की कालाबाजारी पर राजनीति तेज हो गई है। नवनीत कालरा के पास से ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बरामद होने के बाद इस पर आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी ने कांग्रेस पार्टी पर गंभीर आरोप लगाए हैं।



मीनाक्षी लेखी ने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस के हाथ हमेशा कालाबाजारी और जमाखोरों के साथ रहे हैं और नवनीत कालरा का कांग्रेस के साथ सीधा संपर्क है। नवनीत कालरा के पास से 7500 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर जब्त किए गए, जिनकी कीमत 13 करोड़ रुपये है। इस मामले में मैट्रिक्स सेल्युर सीईओ गौरव खन्ना भी शामिल हैं।


भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी ने कहा कि राहुल गांधी और उनके कांग्रेस दोस्त ही पहले ऑक्सीजन की कमी को लेकर हाहाकार मचाते हैं और बाद में इन्हीं लोगों के पास से जब्त किया हुआ सामान मिलता है। उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि नवनीत कालरा का कांग्रेस के साथ सीधा संपर्क है। उन्होंने आगे कहा कि अगर आप नवनीत कालरा का फेसबुक प्रोफाइल देखेंगे तो उसमें वो महामारी के लिए प्रधानमंत्री को दोषी बता रहे हैं।

बात सिर्फ इतनी भर नहीं है जिन लोगों तक कालरा या कांग्रेस की तरफ से मदद के नाम पर उपकरण या दवाइयां या कुछ भी पहुंचाया गया है उन्होंने बहुत ही सधे हुए अंदाज में सोशल मीडिया पर कांग्रेस पार्टी, कांग्रेस पार्टी के नेताओं और कांग्रेस के वालिंटियर्स का धन्यवाद देते हुए केंद्र सरकार को कठघरे में खड़ा किया है। ऐसे लोगों में दिल्ली एनसीआर के पत्रकार, रिटायर्ट प्रशासनिक अधिकारी और तथाकथित स्वघोषित बुद्धिजीवी शामिल हैं। ऐसे लोगों के सोशल मीडिया एकाउंट्स की जांच कर इनसे भी पूछताछ होनी चाहिए।


मीनाक्षी लेखी ने आगे कहा कि उनके रेस्त्रां के शेफ, राहुल और सोनिया गांधी के साथ फोटो खिंचवाते हैं और उन्हें अपना पहला परिवार मानते हैं। इसके अलावा मीनाक्षी लेखी ने यह भी कहा कि जब अजय माकन शहरी विकास मंत्री थे, तो उन्होंने 2004-05 में दिल्ली गोल्फ कोर्स नोमिनेशन रॉबर्ट वाड्रा और 2005-06 में नवनीत कालरा को दिया था।


इस पूरे प्रकरण में ये और भी दिलचस्प है कि नवनीत कालरा का मुकदमा कांग्रेस सांसद अभिषेक मनु सिंघवी लड़ रहे हैं और उससे भी बड़ी बात ये कि कालरा को राहत देने के लिए अदालत कोविड काल में निर्धारित समय के बाद शाम सात बजे से बैठकर रात दस बजे तक सुनवाई कर रही है।


टीम स्टेट टुडे


विज्ञापन
विज्ञापन


26 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0