google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

मुख्तार की बहू पति के साथ जेल में रहने के लिए sp-जेलर को देती थी महंगे तोहफे


चित्रकूट, 3 मार्च 2023 : माफिया मुख्तार अंसारी के विधायक बेटे अब्बास अंसारी और निखत बानो के मामले में आरोपित निलंबित जेल अधीक्षक अशोक कुमार सागर और जेलर संतोष कुमार के विशेष जांच दल (एसआईटी) ने हिरासत में लिया है उनसे पूछताछ कर उपहार की लिस्ट तैयार की जा रही है। यह अफसर निखत को जेल में उपहार के बदले घर सी सुविधा उपलब्ध कराते थे वह बेरोकटोक पति के मिलती थी और एक कमरे में कई-कई घंटे रहते थे।

दोनों अफसर जल्‍द भेजे जाएंगे जेल

पुलिस जल्द ही दोनों अफसर को जेल भेज सकती है। इस मामले में जेल में बंद विधायक अब्बास, निखत व नियाज समेत जेल एसपी अशोक कुमार सागर, जेलर संतोष कुमार, वार्डर जगमोहन सहित सात लोगों के खिलाफ नामजद और अन्य अज्ञात कर्मचारियों के खिलाफ कर्वी कोतवाली में भष्ट्राचार निरोधक अधिनियम समेत विभिन्न संगीन धारा में मुकदमा दर्ज है। मुकदमा के बाद जेल एसपी समेत आठ लोगों को निलंबित कर दिया गया था।

जेलर ने खरीदी थी 18 लाख रुपये की कार

एसपी व जेलर को जेल मुख्यालय लखनऊ संबंध किया गया था। बताते हैं कि पुलिस ने दोनों को वहीं से हिरासत में लिया है और कर्वी कोतवाली में रखकर पूछताछ कर रही है। सूत्र बताते हैं कि जेलर ने जो 18 लाख रुपये की कार खरीदी है उसका भुगतान कहां से हुआ है इसके अलावा और कौन-कौन उपहार मिलते हैं उसको लिस्ट पुलिस तैयार कर रही है। किसने यह सेटिंग कराई उस को भी पूछा जा रहा है। अपर पुलिस अधीक्षक चक्रपाणि त्रिपाठी ने बताया कि दोनों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है, जैसे की गिरफ्तारी होगी सूचना दी जाएगी।

इस मामले में पांच जा चुके हैं जेल

इस मामले में अभी तक पांच लोग जेल जा चुके हैं जिसमें अब्बास अंसारी की पत्नी निखत बानो, उसका चालक नियाज को डीएम व एसपी ने छापेमारी के दौरान 10 फरवरी को ही पकड़ लिया था। स्थानीय मास्टर माइंड के रूप में समाजवादी पार्टी जिला महासचिव फराज खान और कैंटीन ठेकेदार नवीन सचान गिरफ्तारी हो चुकी है जबकि डिप्टी जेलर चंद्रकला सोमवार को जेल भेजी गई है। अभी और लोग भी चिन्हित हैं जबकि नामदज आरोपित जगमोहन भी पुलिस की पकड़ से दूर है। पुलिस की 18 टीमें प्रदेश में अलग-अलग जगहों पर छापेमारी कर रही हैं। जो लोग निशाने में है उसमें अधिकांश भूमिगत हैं।

यह था मामला

10 फरवरी को जिलाधिकारी अभिषेक आनंद और पुलिस अधीक्षक वृंदा शुक्ला ने जेल में छापा मारा था। मऊ विधायक अब्बास अंसारी अपनी बैरक में नहीं थे, जेल परिसर के कमरों की तलाशी में एक कमरे में बाहर से ताला लगा था, खुलवाने पर अंदर अब्बास की पत्नी निखत बानो मिली थी। अब्बास को थोड़ी देर पहले ही जेल कर्मी कमरे से निकाल कर ले गए थे। निखत की तलाशी में दो मोबाइल फोन, 21 हजार रुपये नकद और सऊदी अरब की करेंसी (रियाल) बरामद हुई थी।

69 views0 comments
bottom of page