google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

महाराष्ट्र के नांदेड़ में लिंगायत साधु की, वामपंथियों के गढ़ में संतों की हत्या का राज क्या है ?



महाराष्ट्र के नांदेड़ में लिंगायत समुदाय के साधु की हत्या का समनीखेज मामला सामने आया है। साधु का नाम रुद्र पशुपति महाराज बताया जा रहा है। साधु के अलावा पास के ही इलाके में एक और शख्स की हत्या हुई है।

जानकारी के मुताबिक, रात 12 बजे से साढ़े 12 के बीच साधु की हत्या हुई है। दरवाजा तोड़कर आरोपी अंदर घुसा और साधु की हत्या कर फरार हो गया। प्रदेश सरकार में मंत्री अशोक चव्हाण ने घटना की निंदा की है। उन्होंने पुलिस को मामले में आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का आदेश दिया है।


इससे पहले पालघर में जूना अखाड़े के दो साधुओं की भीड़ ने हत्या कर दी थी, जिसके बाद महाराष्ट्र में कानून व्यवस्था को लेकर उद्धव सरकार की काफी आलोचना हुई थी। मामला देशभर में चर्चा का विषय बना था।


आपको बता दें पालघर में साधुओं की मॉब लिंचिंग के बाद अब नादेंड़ में संत की हत्या हुई है।


पालघर और नांदेड़ दोनों ही वामपथिंयों के गढ़ है। लिंगायत समुदाय के संत की हत्या से सियासी रुप से दो निशाने साधे गए हैं। संत की हत्या से हिंदू समाज को धक्का लगा है जबकि लिंगायत समुदाय से जुड़े होने के कारण कर्नाटक की राजनीति पर इसका गहरा प्रभाव होगा। पालघर में जिन संतों की हत्या हुई थी उससे भी समग्र रुप से हिंदू समाज आहत हुआ था जबकि संतों का गृहजनपद उत्तर प्रदेश का सुल्तानपुर जिला था। ऐसा माना जाता है कि वामपंथियों की कट्टरता का फायदा कांग्रेस हिंदू समाज को उद्वेलित करके लेती रही है।


टीम स्टेट टुडे


32 views0 comments

Commentaires


bottom of page