google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

नेपाल के सीमावर्ती गांव नौजल्हा नकटा पहुंची राज्यपाल आनंदी बेन


पीलीभीत, 22 नवंबर 2022 : बंगलादेश देश सेविस्थापन के दौरान 1965 में बंगाली समाज केशारदा की तलहटीपर आकर बसगए, जिनकी संख्यालगभग 60 हजार हैऔर 10 से अधिकगांव में अपनाजीवन यापन करतेहै। लेकिन आजतकनागरिकता का कोईसमाधान नही हुआ।उधर राज्य पालआनंदी बेन पटेलके दौरे कोलेकर बंगाली समाजके लोगो मेंउम्मीद थी लेकिनअधिकारियों ने पहलेही जनसंवाद कार्यक्रमके दौरान ग्रामीणोंको बोलने सेमना कर दिया।उधर राज्यपाल नेजन संवाद केदौरान सरकारी योजनाओंके बारे मेंजानकारी दी। साथराज्य पाल नेस्कूली बच्चों को खिलौनेऔर लाभार्थियों कोप्रमाण पत्र भीसौपे।

दरअसल मंगलवार कोसुबह राज्यपाल आनंदीबेन पटेल बाइफरेशनसे नेपाल केसीमावर्ती गांव नौजल्हानकटा पहुंचीं। यहांआंगनबाड़ी केंद्र परिसर मेंआयोजित जन संवादकार्यक्रम को संबोधितकरते हुए राज्यपालने कहा किजब गर्भवती कोभरपूर पोषण मिलेगातो स्वस्थ बच्चेका जन्म होगा।इससे समाज मेंस्वस्थ बच्चों की संख्याबढ़ेगी। राज्यपाल ने कहाकि जब कोईगर्भवती कुपोषित बच्चे कोजन्म देती हैतो परिवार कोभी समस्या आतीहै और सरकारोंकी भी चिंताबढ़ जाती है।ऐसे में महिलाओंऔर बच्चों कोपोषण से भरपूरभोजन मिलना चाहिए।

राज्यपाल ने कार्यक्रममें बड़ी संख्यामें मौजूद महिलाओंको इस बातके लिए भीप्रेरित किया किवे अपने परिवारमें सास-ससुरका भी ध्यानरखें। उन्हें भीपोषणयुक्त आहार मिलनाचाहिए। उन्होंने महिलाओं औरबच्चों में कुपोषणकी समस्या कोसबसे प्राथमिकता केआधार पर दूरकिए जाने कीआवश्यकता बताई।

रिपोर्टर- रमेश कुमार

23 views0 comments

Commenti


bottom of page