google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

राष्ट्रवाद के तरकश से निकले नामकरण के नए तीर


नई दिल्ली, 11 फरवरी 2023 : लखनऊ का नाम लक्ष्मणपुरी या लखनपुरी हो जाए और गुजरात के अहमदाबाद का नामकरण कर्णावती कर दिया जाए..। यह मांगें अपनी मंजिल तक पहुंचें या नहीं, लेकिन सांस्कृतिक राष्ट्रवाद के इस तीर ने 2024 के लोकसभा चुनाव के लिए सज रहे मैदान में पाला खींचने का प्रयास जरूर शुरू कर दिया है। यह ऐसा दांव है कि भगवा खेमा नाम बदलने की मांग उठाकर या उसका खुलकर समर्थन कर बड़े हिंदू वर्ग से भावनात्मक जुड़ाव का दांव खेलना चाहता है, जबकि अल्पसंख्यक मतों को लेकर सतर्क विपक्षी दलों के लिए समर्थन और विरोध, दोनों में ही सियासी जोखिम है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से लखनऊ का नाम बदलने की मांग

उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ से सांसद संगम लाल गुप्ता ने हाल ही में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर लखनऊ का नाम लखनपुरी या लक्ष्मणपुरी करने की मांग की है। इसके साथ ही वहां एक बहस शुरू हो गई। उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने मांग का समर्थन कर दिया है। कई नेता इसके पक्ष में तर्क दे रहे हैं। विपक्षी खेमे पर इसका असर होना स्वाभाविक था। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने तंज कसा है कि भाजपा सरकार को काम करना चाहिए, नाम बदलने से कुछ नहीं होगा।

सीएम लखनऊ को भगवान लक्ष्मण की नगरी से करते रहे हैं संबोधित

पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव शिवपाल यादव ने तो स्पष्ट कह दिया कि यदि लखनऊ का नाम बदला गया तो हमारी सरकार आने पर पुराना नाम बहाल कर दिया जाएगा। सरकार की ओर से बेशक अभी कुछ नहीं कहा गया हो, लेकिन ध्यान रखने की बात है कि योगी पहले भी लखनऊ को भगवान लक्ष्मण की नगरी संबोधित करते रहे हैं। आजमगढ़ संसदीय सीट के उपचुनाव के दौरान मंच से वह आजमगढ़ को आर्यमगढ़ करने की बात कह चुके हैं। हैदराबाद नगर निगम चुनाव के वक्त योगी ने कहा था कि इस शहर का नाम भाग्यनगर होना चाहिए।

ओमप्रकाश राजभर भी बहराइच का नाम बदलने की कर चुके हैं मांग

इस बीच सपा से नाता तोड़कर फिर भाजपा के करीब नजर आ रहे सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने भी स्थानीय भावनाओं को भुनाने के लिए बहराइच का नाम महाराज सुहेलदेव के नाम पर और गाजीपुर का नाम महर्षि विश्वामित्र के नाम पर करने की मांग उठा दी है। अलीगढ़ को हरिगढ़ बनाने का जिला पंचायत का प्रस्ताव 2021 में ही प्रदेश सरकार के पास आ चुका है।

अहमदाबाद का नाम बदलकर कर्णावती करने की मांग

गुजरात में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने मांग की है कि अहमदाबाद का नाम बदलकर कर्णावती कर दिया जाए। इधर, दिल्ली में भाजपा नेता आदेश गुप्ता आम आदमी पार्टी की सरकार से 2020 में मांग कर चुके हैं कि दिल्ली के जिन 40 गांवों के नाम मुगल शासकों या उनके साम्राज्य की याद दिलाते हैं, उन्हें बदल दिया जाए।

कुछ महत्वपूर्ण नामकरण पुराना- नया

राष्ट्रपति भवन का मुगल गार्डन- अमृत उद्यान

राजपथ- कर्तव्यपथ

इलाहाबाद- प्रयागराज

फैजाबाद- अयोध्या

फिरोज शाह कोटला स्टेडियम- अरुण जेटली स्टेडियम

मुगल सराय स्टेशन- पंडित दीनदयान उपाध्याय जंक्शन

गुड़गांव- गुरुग्राम

मेवात- नूह

इलाहाबाद राज्य विश्वविद्यालय- प्रो. राजेंद्र सिंह (रज्जू भैया) विवि

1 view0 comments

Commenti


bottom of page