google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

प्रयागराज महाकुंभ 2025 से पहले प्रदेश को मिलेगा गंगा एक्सप्रेसवे का तोहफा


लखनऊ, 15 जुलाई 2022 : उत्तर प्रदेश में रोड कनेक्टिविटी को मजबूती मिलने के साथ ही प्रदेश में एक्सप्रेसवे का जाल बिछाया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के हाथों शनिवार को बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे के उद्घाटन के बाद योगी आदित्यनाथ सरकार का प्रदेश को प्रयागराज महाकुंभ 2025 से पहले एक और एक्सप्रेसवे का तोहफा देगी।

लखनऊ में शनिवार को औद्योगिक विकास मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी और यूपीडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि प्रदेश में मेरठ से प्रयागराज को जोडऩे वाले गंगा एकसप्रेसवे का काम 2025 के प्रयागराज महाकुंभ से पहले पूरा हो जाएगा। मेरठ को प्रयागराज से जोडऩे वाले 594 किलोमीटर लंबे गंगा एक्सप्रेसवे देश का सबसे लम्बा एकसप्रेवे होगा। इस गंगा एक्सप्रेसवे के निर्माण के लिए 36 माह की समयावधि तय की गई थी। सरकार की कोशिश होगी कि प्रयागराज कुंभ से पहले गंगा एक्सप्रेसवे का निर्माण पूरा कर लिया जाए ताकि दिल्ली की ओर से आने वाले श्रद्धालु इस एक्सप्रेसवे पर होकर संगम में स्नान करने जा सकें।

अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि गंगा एक्सप्रेसवे के लिए केंद्र सरकार से सारी स्वीकृतियां मिल चुकी हैं। इतना ही नहीं 95 प्रतिशत भूमि भी अधिग्रहित की जा चुकी है। अब बची हुई जमीन का कब्जा भी जुलाई अंत तक लेने की कोशिश होगी। इसके बाद से ही इसके निर्माण कार्य में और तेजी आएगी। अवस्थी ने बताया कि जल्द ही मुख्यमंत्री और औद्योगिक विकास मंत्री के स्तर पर कुछ और एक्सप्रेसवे बनाए जाने के बारे में चर्चा होगी। इतना ही नहीं औद्योगिक विकास मंत्री भी चाहते हैं कि प्रयागराज क्षेत्र में नए एक्सप्रेसवे बनें। मंत्री नदी के साथ अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया की पूर्वांचल एक्सप्रेसवे को बलिया लिंक एक्सप्रेसवे के जरिये बलिया से जोडऩे के लिए एनएचएआइ ने भूमि अधिग्रहण के लिए यूपीडा को 500 करोड़ रुपये दिए हैं। इसमें से 400 करोड़ों रुपये की धनराशि गाजीपुर और बलिया के जिलाधिकारियोंको भूमि अर्जित करने के लिए उपलब्ध करा दी गई है। भूमि अर्जित पूरा कर सितंबर से बलिया लिंक एक्सप्रेसवे का निर्माण शुरू कर दिया जाएगा।

3 views0 comments

Bình luận


bottom of page