google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

जनप्रतिनिधियों का अधिकारियों के खिलाफ मोर्चा, केशव, शाही और सांसद बृजभूषण असहाय


लखनऊ, 14 अक्टूबर 2022 : उत्तर प्रदेश के कुछशहरों में जिलाप्रशासन की करनीपर जनप्रतिनिधि तोअब अपना आपातक खो देरहे हैं। बाढ़प्रभावित गोंडा तथा अम्बेडकरनगरके साथ हीअलीगढ़ में तमामकमी देखने केबाद जनप्रतिनिधियों नेजिला प्रशासन केखिलाफ अपना मुंहखोला है। प्रयागराजमें उप मुख्यमंत्रीकेशव प्रसाद मौर्यने भी अधिकारियोंको उदासीन बतायाहै।

योगी आदित्यनाथसरकार में कैबिनेटमंत्री तथा भारतीयजनता पार्टी केवरिष्ठ नेता सूर्यप्रताप शाही बेहदसौम्य स्वाभाव केव्यक्ति हैं। सीएमयोगी आदित्यनाथ केआगमन से पहलेशहर की व्यवस्थादेखने के बादवह काफी बिफरपड़े।

गोंडा में बाढ़ग्रस्त क्षेत्र में फंसेलोगों के बीचपहुंचे कैसरगंज से भारतीयजनता पार्टी केसांसद बृजभूषण शरणसिंह ने जबबाढ़ राहत कार्यमें जिला प्रशासनकी भूमिका केबारे में पूछातो उन्होंने साफकहा कि मतही पूछिए तोअच्छा है। यहांतो बोलती हीबंद है, कुछबोलेंगे तो बागीकहलाएंगे और सुझावदेंगे तो मानाही नहीं जाएगा।इसी कारण चुपरहिए। उप मुख्यमंत्रीकेशव प्रसाद मौर्यका प्रयागराज मेंदो दिन केप्रवास में बेहदही खराब अनुभवरहा। अधिकारियों कीनिष्क्रियता से वहकाफी हैरान दिखेऔर इस परअपनी प्रतिक्रिया भीव्यक्त की।

अलीगढ़ के अफसरकरते हैं हरामखोरी

योगी आदित्यनाथसरकार में कृषि, कृषि शिक्षा एवंकृषि अनुसंधान विभागके मंत्री सूर्यप्रताप शाही नेअलीगढ़ के जिलाप्रशासन के साथही यहां केजनप्रतिनिधियों को लेकरविवादित बयान दियाहै। उन्होंने कहाकि जनता परेशानहै और अलीगढ़के जन प्रतिनिधिसोते रहते हैं।

इतना हीनहीं शहर कीखराब व्यवस्था परउन्होंने कहा कियहां पर तोअफसर हरामखोरी करतेहैं। वह शुक्रवारसुबह शहर कानिरीक्षण कर रहेथे। इस दौरानसर्किट हाउस मेंअव्यवस्थाओं पर उन्होंनेनाराजगी जताई। शहर कीसफाई व्यवस्था देखी।इसके बाद कासगंजके लिए रवानाहो गए।

गोंडा में सांसदबृजभूषण शरण सिंहने कहा- हमतो रो भीनहीं पा रहे

गोंडा में गुरुवारको बाढ़ सेप्रभावित इलाकों का ट्रैक्टरसे भ्रमण करनेके दौरान भारतीयजनता पार्टी केसांसद बृजभूषण शरणसिंह मीडिया कर्मियोंसे भी मिले।इस दौरान जबउनके बाढ़ राहतकी व्ययस्था केबारे में पूछागया तो साफकहा कि कुछमत पूछिए तोही अच्छा है।उन्होंने कहा किजिला प्रशासन तोनकारा है। यहांपर तो सबभगवान भरोसे हीहै। लोग तोअब वर्षा केरुकने का इंतजारकर रहे हैं।यहां पर अबतो जब पानीरुकेगा तभी राहतमिलेगी।

बृजभूषण शरण सिंहने जब बाढ़राहत कार्य केबारे में पूछागया तो उन्होंनेकहा कि जीवनमें इससे खराबइंतजाम नहीं देखा।लोगों को हमारेसमर्थकों ने ट्रैक्टरट्राली पर बैठाकरसुरक्षित स्थान पर पहुंचाया।हम भी तोट्रैक्टर पर बैठकरही क्षेत्र मेंघूम रहे हैं। घरों तकबाढ़ का पानीपहुंचा है। दोदशक बाद बाढ़इतनी विकराल हुईऔर जिला प्रशासनमस्त है। उन्होंनेकहा कि बाढ़के इंतजाम केलिए जून याजुलाई में तैयारीहो जानी चाहिए, लेकिन यहां नहींहै।

उनकी तोबोलती ही बंद

सांसद से जबपूछा गया किआपकी सलाह क्याहै, तो उन्होंनेकहा कि उनकीतो बोलती हीबंद है। अगरकुछ बोलेंगे तोबागी कहलाएंगे। अगरहम कोई सुझावदेंगे तो उसपरअमल नहीं होगा, इसलिए बेहतर हैहम चुप हीरहें। हम अपनीसरकार के खिलाफक्या बोलें। बाढ़के कारण कैसरगंजसे भाजपा सांसदबृजभूषण शरण सिंहको भी गोंडामें अपने आवासपर जाने केलिए ढेमवा रोडपर मंहगूपुर गांवके पास ट्रैक्टरका सहारा लेनापड़ा।

जनता केलखनऊ जाने कामतलब ईमानदारी सेकाम नहीं कररहे अधिकारी

प्रयागराज में उपमुख्यमंत्री केशव प्रसादमौर्य ने अधिकारियोंको कार्यप्रणाली सुधारनेकी हिदायत दीहै। उन्होंने शुक्रवारकी सुबह सर्किटहाउस में जनसमस्याएंसुनीं। अधिकतर समस्या बिजली, पानी, चिकित्सा, सड़कसे जुड़ी थी।उप मुख्यमंत्री नेसंबंधित विभाग के अधिकारियोंको उसे 24 घंटेके अंदर निस्तारितकरने का निर्देशदिया। कहा किहमारे लिए जनतासर्वोपरि है।

समाज केअंतिम व्यक्ति कोअधिकार, सम्मान व समस्तसुविधा दिलाना मोदी-योगीसरकार का लक्ष्यहै। अधिकारी उसीमंशा के अनुरूपकाम करें। कहाकि अगर कोईव्यक्ति अपनी समस्यानिस्तारित कराने के लिएलखनऊ का चक्करकाटता है तोइसका मतलब उसविभाग के अधिकारी-कर्मचारी ईमानदारी सेकाम नहीं कररहे हैं। ऐसेअधिकारियों को चिह्नितकरके कार्रवाई कीजाएगी। उन्होंने कहा किहमारा लक्ष्य जनताकी परेशानी दूरकरना होना चाहिए, न कि उन्हेंपरेशान करना।

1 view0 comments

Comments


bottom of page