google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

राहुल गांधी ने कहा “हम दो हमारे दो” – मंत्री जी बोले “करना है तो अब शादी कर लो”



कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के एक बयान पर केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने उनको सलाह दी है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि राहुल गांधी हम दो हमारे दो का नारा बोल रहे हैं। इसलिए हम दो हमारे दो करना है तो राहुल गांधी को शादी करनी चाहिए और दलित लड़की के साथ शादी करते हैं तो महात्मा गांधी का सपना पूरा होगा और जातिवाद खत्म होगा।


दरअसल राहुल गांधी ने संसद सत्र के दौरान लोकसभा में कहा था कि पहले कृषि कानून के कंटेंट में मंडियों को खत्म करना है। दूसरे कृषि कानून के कंटेंट में है कि कोई भी उद्योगपति जितना चाहें अनाज, फल और सब्जी उतना स्टोर कर सकते हैं। जमाखोरी को बढ़ावा देना कानून का लक्ष्य है। राहुल गांधी ने कहा कि तीसरे कानून के कंटेंट में है कि जब एक किसान हिंदुस्तान के सबसे बड़े उद्योगपतियों के सामने जाकर सब्जी-अनाज के लिए सही दाम मांगेगे तो उसे अदालत में नहीं जाने दिया जाएगा।



इतना ही नहीं राहुल गांधी ने कहा कि सालों पहले परिवार नियोजन का नारा था हम दो हमारे दो। आज क्या हो रहा है। ये नारा दूसरे रूप में आया है। इस देश को चार लोग चलाते हैं। आज इस सरकार का नारा है हम दो-हमारे दो।


राहुल गांधी ने कहा कि दो मित्रों में एक मित्र है उसको फल और सब्जी बेचने का अधिकार। इससे नुकसान ठेले वालों का होगा। छोटे व्यपारियों का होगा। मंडी में काम करने वाले लोगों का होगा। दूसरे मित्र को पूरे देश में अनाज, फल और सब्जी को स्टोर करना है। सदन में राहुल गांधी ने कहा था कि जब ये कानून लागू होंगे। देश के किसान और मजदूर, व्यापारी इनका धंधा बंद हो जाएगा। किसानों का खेत चला जाएगा। सही दाम नहीं मिलेगा और सिर्फ दो लोग हम दो और हमारे दो लोग इसे चलाएंगे।


सिर्फ लोकसभा ही नहीं असम में चुनाव की औपचारिक शुरुआत करते हुए राहुल गांधी ने सीएए का विरोध किया और वहां भी इस नारे का इस्तेमाल किया।


राहुल गांधी ने कहा कि असम को उनके "अपने लोगों" में से एक मुख्यमंत्री की जरूरत है, जो उनके मुद्दों को सुने और उन्हें हल करने की कोशिश करे।


उन्होंने कहा, "रिमोट कंट्रोल एक टीवी चला सकता है, लेकिन मुख्यमंत्री को नहीं। वर्तमान मुख्यमंत्री नागपुर और दिल्ली की बात सुनते हैं। अगर असम को फिर से इस तरह का मुख्यमंत्री मिलता है, तो इससे लोगों को कोई फायदा नहीं होगा। युवाओं को एक ऐसे मुख्यमंत्री की जरूरत है, जो उन्हें नौकरी दे।


प्रधानमंत्री, केंद्रीय गृह मंत्री और "उनके करीबी व्यापारियों" पर कटाक्ष करते हुए गांधी ने कहा, "मैंने असम के लिए एक नया नारा तैयार किया है – “हम दो, हमारे दो- असम के लिये हमारे और दो, और सबकुछ लूट लो”।


राहुल के बयान का मतलब मध्यप्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भी समझाया है।



नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि 'हम दो-हमारे दो' का नारा राहुल गांधी के परिवार का ही बनाया हुआ है। वे इसी का पालन करते हैं।


'हम दो' का अर्थ है, मां और बेटा और 'हमारे दो' का मतलब दीदी और बहनोई। नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि वो दो हो गए और उनके दो हो गएं। यहीं बात वह कह नहीं पा रहे हैं तो उसको आप इस अर्थ में निकालिए तो यह सामरिक और सार्थक दिखेगा।


एमपी के गृह मंत्री ने कहा कि चुनाव आने पर कांग्रेस के युवराज तरह-तरह के स्वांग रचने लगते हैं। कभी जनेऊ डाल लेते हैं, तो कभी गले में 'NO CAA' लिखा गमछा। मेरी नजर में 'NO CAA' का मतलब है नो कांग्रेस अलायन्स एक्सेप्टेबल। सब देखेंगे, चुनाव के नतीजों में यही हकीकत सामने आएगी। वह कुर्ते की फटी जेब में से हाथ भी निकाल लेते हैं।


टीम स्टेट टुडे


Comments


bottom of page